बेगूसराय, जेएनएन। बिहार बोर्ड फागू चौहान को राज्‍यपाल मानता ही नहीं, यह सिमुलतला प्रवेश परीक्षा में पूछे गए सवाल से लगता है। दरअसल, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति का विवादों से पुराना नाता है। एक बार फिर से सिमुलतला जैसे महत्वपूर्ण संस्थान में एडमिशन के लिए आयोजित प्रवेश परीक्षा में दिया गया एक सवाल चर्चा में है। बोर्ड द्वारा तैयार प्रश्नपत्र के प्रश्न संख्या 79 में बिहार के वर्तमान राज्यपाल का नाम अंकित नहीं किया गया है जिस कारण विद्यार्थियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। अधिकांश विद्यार्थियों ने गलत टिक लगा दिए, जबकि कुछ विद्यार्थी उसे खाली ही छोड़ दिया।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा सिमुलतला आवासीय विद्यालय जमुई के लिए गुरुवार को शहर के बीपी इंटर स्कूल में प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया गया जिसमें जिले के 622 परीक्षार्थी शामिल हुए। परीक्षा देकर निकले विद्यार्थियों ने बताया कि कई सवालों से उनको परेशानियों का सामना करना पड़ा। सबसे महत्वपूर्ण प्रश्न संख्या 79 था। जिसमें पूछा गया था कि बिहार के राज्यपाल कौन हैं?

उसके ऑप्शन में एक नंबर पर रामनाथ कोविंद, दो नंबर पर सत्यपाल मलिक, तीन नंबर पर केशरीनाथ त्रिपाठी और चार नंबर डीवाई पाटिल लिखा गया था। जबकि वर्तमान राज्यपाल फागू चौहान का कहीं जिक्र भी नहीं था। जिसके कारण उन्हें वह प्रश्न छोड़ना पड़ा। इधर, परीक्षा में तैनात एक अधिकारी ने बताया कि संभवत: प्रश्न पत्र अगस्त से पहले ही छप गया होगा, उस समय सत्यपाल मलिक राज्यपाल थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस