पटना [राज्य ब्यूरो]। राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर पटना में आयोजित सम्मान समारोह में अंतरराष्ट्रीय शूटर श्रेयसी सिंह, कबड्डी खिलाड़ी शमा परवीन और रग्बी खिलाड़ी स्वीटी कुमारी को राज्य श्रेष्ठ खेल सम्मान प्रदान किया गया। अंतरराष्ट्रीय श्रेणी के दिव्यांग वर्ग में शरद कुमार को भी राज्य श्रेष्ठ खेल सम्मान दिया गया। खिलाडि़यों को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने सम्‍मानित किया।

श्रेयसी की गैर मौजूदगी में उनके मामा सर्वजीत सिंह ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। इस वर्ष राज्य सरकार की ओर से कुल 294 खिलाडिय़ों को खेल पुरस्कार प्रदान किए गए हैं। सरकार ने इस वर्ष कुल 2.11 करोड़ रुपये के पुरस्कार वितरित किए।

सुशील मोदी बोले- खिलाडि़यों को राज्‍य सरकार देगी भरपूर मौका

इस अवसर पर संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि खेल के जरिए प्रदेश और देश का नाम ऊंचा करने वाले खिलाडिय़ों को राज्य की सरकारी सेवाओं में भरपूर मौका दिया जाएगा। अब तक 155 खिलाडिय़ों को नौकरी दी जा चुकी है, जबकि 258 की नौकरी के लिए प्रक्रिया चल रही है।

उन्होंने कहा तीन महीने में टास्क फोर्स की रिपोर्ट आने के बाद खेल एवं खिलाडिय़ों के विकास की विशेष कार्य योजना बनाई जाएगी। खिलाडिय़ों को काफी लंबी दूरी तय करनी है। खेल और खिलाडिय़ों के विकास के लिए पैसों की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष इसी समारोह में उन्होंने घोषणा की थी कि पाटलिपुत्र स्पोर्टस कॉम्प्लेक्स के बगल में एक नए स्टेडियम के निर्माण किया जाएगा। इस घोषणा को पूरा करने का वक्त आ गया है। नए स्टेडियम के निर्माण के लिए साढ़े तीन एकड़ जमीन की व्यवस्था हो गई है और इसका हस्तांतरण भी किया जा चुका है। गर्दनीबाग में सरकारी क्वार्टरों के तोड़कर नए निर्माण होने हैं। यहां भी सरकार एक खेल परिसर विकसित करेगी। इसके लिए साढ़े 15 एकड़ जमीन चिन्हित की गई है। इसी प्रकार राजगीर में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट एकेडमी एवं स्टेडियम का निर्माण भी होना है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि हम फिट तो इंडिया फिट, इस उक्ति को बिहार सही साबित करेगा। खेलो इंडिया योजना के तहत राज्य स्तर पर स्टेडियम निर्माण के लिए तीन करोड़, जिला स्तर पर डेढ़ करोड़ तथा अनुमंडल और प्रखंड स्तर पर 75 लाख रुपये दिए जाएंगे। उन्होंने खेलो इंडिया की ओर से आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में बिहार के खिलाडिय़ों ने 38 पदक प्राप्त कर बिहार का सम्मान बढ़ाया है। इसे देखते हुए खिलाडिय़ों के सम्मान के लिए पिछले वर्ष से तीस लाख की राशि बढ़ाकर दो करोड़ रुपये कर दी गई है।

खेलों के विकास के लिए नहीं होगी धन की कमी

इस अवसर पर कला संस्कृति मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि ने कहा कि राज्य सरकार चाहती है कि खिलाडिय़ों और खेल का प्रदेश में भरपूर विकास हो। इसके लिए राशि की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी।

कैलेंडर व स्‍मारिका का विमोचन

समारोह के दौरान स्मारिका और वार्षिक खेल कूद कैलेंडर का विमोचन भी किया गया। समारोह में कला संस्कृति विभाग के प्रधान सचिव रवि परमार, खेल प्राधिकरण के महानिदेशक अरविंद पांडेय, निश्शक्ता आयुक्त डॉ. शिवाजी कुमार के अलावा दूसरे गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Posted By: Amit Alok