जासं, सिवान : आरजेडी के पूर्व सांसद रहे शहाबुद्दीन की पत्नी ने रविवार को राजद छोड़ने के संकेत दिए हैं। राज्यसभा के लिए राजद द्वारा टिकट नहीं दिए जाने से समर्थकों द्वारा लगातार उठ रहे विरोधाभास के सुर को ताजा बयान से बल मिल गया है। हिना ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत के क्रम में कहा कि पार्टी की जहां तक बात है तो अभी वह पूरी तरह से निष्क्रिय (न्यूट्रल) हैं और सक्रिय नहीं हैं। उन्होंने आगे कहा कि वे अपने लोगों से मिलने के लिए एक महीने बाद बिहार के दौरे पर निकलेंगी। जनता से मिलने के बाद अंतिम निर्णय लेंगी। हालांकि हिना से दैनिक जागरण ने जब पार्टी छोड़ने या बने रहने को लेकर सवाल किया तो उन्होंने स्पष्ट किया कि उन्होंने राजद नहीं छोड़ा है, वे अभी सक्रिय नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि मरहूम मो. शहाबुद्दीन नहीं रहे, मैं उनकी कमी को पूरा तो नहीं कर सकती लेकिन कोशिश करूंगी कि बेहतर करूं। इसके पूर्व मुस्लिम मंच कारवाने बेदारी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नजरे आलम के नेतृत्व में दरभंगा व समस्तीपुर के करीब 150 से अधिक मुस्लिम समुदाय के लोग हिना शहाब से मिलने उनके शहर के नया किला आसी नगर स्थित आवास पर पहुंचे। हिना शहाब ने सभी आगंतुकों का स्वागत किया। इस दौरान बिहार के राजनीतिक हालात व राजद संगठन नेतृत्व द्वारा हिना शहाब को राज्यसभा नहीं भेजे जाने समेत अन्य मुद्दों पर विस्तृत चर्चा हुई। इस दौरान नजरे आलम ने कहा कि हिना शहाब को राज्यसभा नहीं भेजे जाने को लेकर हमलोग उनसे मिलने पहुंचे हैं। विभिन्न मुद्दों पर चर्चा भी की गई है। आगे मिलजुल कर निर्णय लिया जाएगा कि क्या किया जाए और क्या नहीं। मौके पर जकी अहमद, मो. नुरैन, राशिद हुसैन, मो. तालिब, मो. हीरा, मो. इमरान आजम, मो. शहबाज आलम, परवेज अख्तर, मो. सज्जाद आलम, मो. इरफान, मो. शब्बीर, मो. शाहजहां, इम्तेयाज भोला, मो. आफताब, अजय तिवारी आदि मौजूद थे। 

Edited By: Akshay Pandey