जागरण टीम, पटना। हत्या की लगातार हो रही घटना को लेकर बिहार पुलिस पर सवाल खड़े हो रहे हैं। बेखौफ अपराधियों ने कई इलाकों में खुलेआम हत्या की घटना को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती दी है। पिछले चौबीस घंटे के दौरान पटना, सिवान, आरा, बक्सर, मुंगेर, गया में हत्या की घटनाएं हुई हैं, जिसके बाद बिहार के नए डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने आज पुलिस अधिकारियों की पटना में बैठक बुलाई है।

डीजीपी ने कहा-अपराधी बिल में घुसा हो तो खींचकर बाहर निकालेंगे

लगातार हो रही हत्याओं पर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि अब गोली चली तो हम भी चुप नहीं बैठेंगे। उसका जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हत्या की कई वजहें होती हैं, लेकिन अपराधी अगर ये सोचते हैं कि वो अपराध करके कहीं छुप जाएंगे तो अब वो चूहे की बिल में घुसे हों तो हम उन्हें खींचकर बाहर निकाल लेंगे। बिहार में सुशासन का राज है और अपराध करने वाला बख्शा नहीं जाएगा। 

शहाबुद्दीन के भतीजे की गोली मारकर हत्या

पहली घटना सिवान जिले की है जहां बेखौफ अपराधियों ने राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के भतीजे युसूफ की गोली मारकर हत्या कर दी है। घटना के बाद लोगों में आक्रोश है और पुलिस अपराधियों की तलाश कर रही है।

बक्सर में वार्ड पार्षद की हत्या

दूसरी घटना बक्सर जिले की है जहां नगर थानान्तर्गत वार्ड नंबर 27 के पार्षद विजय वर्मा के घर के सामने ही शुक्रवार की रात करीब नौ बजे नकाबपोश बदमाशों ने वार्ड पार्षद की गोली मारकर हत्या कर दी। अपराधियों ने मॉडल थाना के पॉश इलाके में इस घटना को अंजाम दिया है।

अपराधियों ने वार्ड पार्षद के घर में घुसकर फायरिंग की जिसमें वार्ड पार्षद गंभीर रूप से जख्मी हो गए। लोग आनन-फानन विजय वर्मा को सदर अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पड़ोसियों के अनुसार विजय पहले खुद अपराध में संलिप्त थे। विभिन्न थानों में उनपर कई मुकदमे दर्ज हुए थे। मौके पर पहुंचे डीएसपी सतीश कुमार ने घटना की पुष्टि की और कहा कि अपराधियों की तलाश की जा रही है।

पटना में पेट्रोलपंपकर्मी की हत्या

दूसरी घटना पटना के फतुहा थाना क्षेत्र के नयका रोड स्थित एक पेट्रोलपम्प की है जहां अपराधियों ने पेट्रोल पम्प लूट के दौरान पंपकर्मी को गोली मार दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना फतुहा थाना के शुभकामना पेट्रोल पम्प की है जहां शुक्रवार की रात तीन बाइक सवार अपराधियों ने लूट और हत्या की घटना को अंजाम दिया है।

मुजफ्फरपुर में ट्रांसपोर्टर की हत्या

तीसरी घटना मुजफ्फरपुर की है, जहां बेखौफ अपराधियों ने एक ट्रांसपोर्टर की गोली मारकर हत्या कर दी। हालांकि, मामले पर तुरंत एक्शन लेते हुए पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए मुठभेड़ में एक अपराधी को मार गिराया है। वर्चस्व की लड़ाई में अपराधियों ने बैरिया बस स्टैंड में ट्रांसपोर्टर कुंदन सिंह को गोली मार दी जिससे इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। 

मुंगेर में भी एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या

चौथी घटना मुंगेर जिले के बरियारपुर थाना क्षेत्र के घोरघट की है जहां अज्ञात अपराधियों ने गौतम पासवान की गोली मारकर हत्या कर दी है। घटना का पता चलते ही पुलिस घटनास्थल पहुंची है और मामले की जांच में लग गई है। घटना के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है।

आरा में मुखिया को मारी गोली

पांचवी घटना आरा जिले की है, जहां अज्ञात अपराधियों ने उदवंतनगर थाना क्षेत्र स्थित कसाप गांव के मुखिया पंकज सिंह को गोली मार दी। गम्भीर अवस्था में मुखिया को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अपराधियों ने इस घटना को उस वक्त अंजाम दिया जब मुखिया पंकज सिंह अपने घर जा रहे थे। 

गया के मानपुर में गोली मारकर हत्या

छठी घटना गया के मानपुर की है जहां मुफस्सिल थाना अंतर्गत बाबूगंज के रहने वाले विरेंद्र रविदास के गोली मार के हत्या कर दी गई। हत्या के विरोध में परिजन आक्रोशित लोगों ने  भूसंडा मोड़ को जाम कर दिया है। जिससे गया नवादा और गया फतेहपुर मार्ग प्रभावित हुआ है। इस संबंध में वजीरगंज डीएसपी अभिजीत सिंह ने बताया कि मृतक के सिर पर दो गोली लगी है। मामले की छानबीन कर रहे हैं।

 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस