पटना [राजेश ठाकुर]। Chandrayaan-2: चांद पर 'विक्रम' की लैंडिंग पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी थीं। और वह ऐतिहासिक क्षण भी आने वाला था। लेकिन ऐनवक्‍त पर उसका पृथ्‍वी से संपर्क टूट गया। इससे पूरी दुनिया के साथ बिहार के लाेगों को भी काफी निराशा हुई। लेकिन लोगों ने कहा- उम्‍मीद बरकरार है। वहीं तीन बजे सुबह में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने ट्वीट कर कहा- संपर्क टूटा है, हौसला नहीं। 

तभी लोग मायूस हो उठे
दरअसल, इस ऐतिहासिक क्षण को देखने के लिए बिहार में भी लोग आधी रात में जगे हुए थे। टीवी पर लोग नजर गड़ाए हुए थे। कुछ लोग मोबाइल पर अपनी नजर टिकाए हुए थे। लेकिन वह ऐतिहासिक क्षण नहीं आ सका। जब 2.1 किमी की दूरी बची हुई थी, तभी विक्रम लैंडर से पृथ्‍वी का संपर्क टूट गया। इसके बाद वैज्ञानिकों के निराश चेहरों को देख बिहार के लोग भी मायूस हो उठे। हालांकि अभी भी लाेगों को उम्‍मीद है कि संपर्क हो सकता है। 

रामविलास पासवान ने कहा- अभी हौसला नहीं टूटा
इधर, सुबह तीन बजे केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने ट्वीट कर कहा- 'हमारे वैज्ञानिकों ने आज जो हासिल किया है, वह काफी बड़ी उपलब्धि है। पूरे देश को आप पर गर्व है। जीवन के उतार चढ़ावों को पीछे छोड़ते हुए हमें आगे बढ़ते रहना है। संपर्क टूटा है, हौसला नहीं।' पासवान ने इसी ट्वीट में आगे कहा- 'हमें पूरा विश्वास है कि हम अपना लक्ष्य हासिल करेंगे।' 

कुछ ऐसा रहा मौहाल पटना में 
'यार, मुझे नींद लग भी जाए तो रात एक बजे जरूर उठा देना। मुझे किसी भी तरह चांद पर चंद्रयान टू के लैंडर 'विक्रम' की लैंडिंग मिस नहीं करनी है।' चांद की धरती पर भारत की दस्तक को लेकर पटना के घर-घर में कुछ ऐसा ही माहौल दिखा। वहीं घड़ी की सुइयां जैसे-जैसे आगे बढ़ रही थीं, पटनावासियों की उत्सुकता बढ़ रही थी। राजधानी के युवाओं और छात्र-छात्राओं में ज्यादा उत्साह दिखा। छात्र-छात्राओं के साथ उनके अभिभावक भी इस महत्वपूर्ण पल को देखने के लिए पूरी रात जगे रहे। नेहरू नगर के मीर आनंद अपार्टमेंट में रहने वाली रश्मि लता अपने घर के सारे काम निपटाने के बाद परिवार के साथ टीवी स्क्रीन पर नजरें टिकाए रहीं। बोरिग रोड की स्नेहा ने कहा कि चंद्रयान-2 की लैंडिंग को लेकर काफी उत्साहित हूं। हालांकि वे भी निराश हो गए, जब चंद्रयान का संपर्क टूट गया।

पीएम मोदी ने था किया यह ट्वीट  

इतना ही नहीं, इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को दिन में ट्वीट कर अपील की थी कि इस दुर्लभ व ऐतिहासिक क्षण को लाेग सोशल मीडिया पर डालें, उनमें से कुछ चुनिंदा ट्वीट को वे रि-ट्वीट करेंगे। लेकिन संपर्क टूटने के बाद पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों की हिम्‍मत बढ़ाई और कहा कि आपलोगों ने काफी मेहनत की। बेशक हमें आगे इसमें सफलता मिलेगी। पीएम के इन बातों को बिहार के लोगों ने भी समर्थन किया है। पटना सिटी के अंजनी पांडेय ने कहा कि जीवन में उतार-चढ़ाव तो होते ही रहता है, इसमें निराश होने की जरूरत नहीं है। वहीं बेगूसराय के रंजीत झा और मुंगेर के संजीव कुमार ने भी इसका समर्थन करते हुए कहा कि हमारा हौसला बरकरार है।  

चंद्रयान-2 ने 22 जुलाई को भरी थी उड़ान

बता दें कि चंद्रयान-2 ने 22 जुलाई को धरती से चांद के लिए उड़ान भरी थी। और अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार वह लगातार इसरो के संपर्क में था। सारी तैयारी चल रही थी। यहां तक कि रात में इसरो ने ट्वीट भी किया था कि इतिहास बननेवाला है। बस महज 2.1 किमी की दूरी और नापनी थी, तभी चंद्रयान 2 का पृथ्‍वी से संपर्क टूट गया।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप