पटना, जेएनएन। पीएमसीएच में डेंगू के मरीजों से मिलने पहुंचे केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की सुरक्षा में भारी चूक सामने आयी है। मंत्री अश्विनी चौबे जब मरीजों से मिलकर पीएमसीएच से बाहर निकले तो गेट के पास ही एक युवक ने मंत्री के चेहरे पर नीली स्याही फेंक दी और भाग खड़ा हुआ। स्याही के छींटे मंत्री के चेहरे, कपड़े और गाड़ी पर भी पड़े। 

अश्विनी चौबे अस्पताल से मरीजों से मिलकर जैसे ही गेट पर पहुंचे और मीडिया से मुखातिब हुए कि एक नीली शर्ट पहना हुआ युवक उनके नजदीक आया और सरेआम स्याही उनके चेहरे और उनकी गाड़ी पर फेंककर तेज गति से भागने लगा। मंत्री और सुरक्षाकर्मी कुछ समझ पाते युवक चीते-सी फुर्ती से दौड़कर भाग निकला। सुरक्षाकर्मी उसका पीछा करते रहे लेकिन युवक उनकी पहुंच से निकल गया।

अश्विनी चौबे ने बिना नाम लिए पप्पू यादव पर बोला हमला

अश्विनी चौबे ने घटना पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि ये उन लोगों का काम है जो गंंदा काम करते हैं, अपराध करते हैं और बड़े नेता बनने की ख्वाहिश रखते हैं। उनके ही इशारों पर ये सब होता है। पता नहीं, उन्हें इससे क्या हासिल होगा? अश्विनी चौबे का इशारा जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव की तरफ था।

स्याही फेंकने वाले युवक ने कहा-मैंने सही किया 

मंत्री अश्विनी चौबे पर काली स्याही फेंकने वाले युवक ने अपना नाम निशांत झा बता रहा है और उसने एक न्यूज चैनल से बातचीत में बताया कि मैं जाप का युवा प्रदेश का सचिव हूं और जलजमाव से लोगों की परेशानी देखकर मैं परेशान था, इसीलिए मैंने नाराजगी में आकर मंत्री पर स्याही फेंकी। ये मेरा अपना फैसला था और मैंने अपना विरोध जताया है, मैंने जो किया सही किया, इसका मुझे कोई अफसोस नहीं है। 

बता दें कि पटना में जलजमाव को लेकर लोगों में काफी आक्रोश देखा जा रहा है। लोग सरकार और मंत्रियों को इसके लिए जिम्मेदार मान रहे हैं। हो सकता है, युवक का गुस्सा भी इसी वजह से हो। लेकिन किसी केंद्रीय मंत्री के सुरक्षाकर्मियों के सामने एक युवक की एेसी हरकत, सुरक्षा पर प्रश्नचिन्ह लगा रहा है। 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप