पटना, आनलाइन डेस्‍क। बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को सत्र की कार्रवाही शुरू होने से पहले परिसर में ही भाजपा और राजद के विधायकों में भिड़ंत हो गई। भाजपा विधायक संजय सरावगी और राजद विधायक भाई वीरेंद्र आपस में उलझ गए। इस दौरान राजद विधायक ने अपशब्‍दों का इस्‍तेमाल करते हुए भाजपा विधायक को कहा कि यहीं पटककर मारेंगे। इस दौरान वहां मौजूद लोगों ने बीचबचाव किया। भाजपा विधायक ने कहा कि ये लेाग बालू माफिया हैं। 15 वर्षों तक इन लोगों ने बिहार को लूटा है। उनका संस्‍कार ही ऐसा है। इधर कांग्रेस और भाकपा माले विधायकों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। सदन के भीतर भी विपक्षी दल कई मु्द्दों पर सरकार पर सवाल उठा रहे हैं। राजद के विधान पार्षदों ने भी प्रदर्शन किया। 

(प्रदर्शन करते कांग्रेस विधायक। जागरण)

बता दें कि सोमवार से शुरू सत्र में सरकार को घेरने के लिए विपक्षी दलों ने पूरी तैयारी की है। अलग-अलग बैठक कर राजद और कांग्रेस ने रणनीति बनाई है। हालांकि विपक्षी दल कांग्रेस और राजद इस बार महागठबंधन के दल के रूप में नहीं दिखेंगे। दोनों अलग-अलग दिखेंगे। हालांकि, उनके मुद्दे कमोबेश एक ही हैं। विपक्ष के तेवर को देखते हुए सरकार भी पूरी तरह तैयार है। हर बात का जवाब देने की तैयारी की गई है। 

(बैनर-पोस्‍टर लेकर प्रदर्शन करते माले विधायक। जागरण)

राजद नीति आयोग की रिपोर्ट से लेकर बेकारी, बेरोजगारी, स्‍वास्‍थ्‍य, शिक्षा समेत शराबबंदी के मुद्दे पर सरकार पर निशाना साधेगा। बिहार में बढ़ते अपराध को लेकर भी सरकार को घेरने की रणनीति राजद की बैठक में बनी है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि शराबबंदी में सरकार पूरी तरह नाकाम है। कांग्रेस शराबबंदी कानून की खामियां, विश्‍वविद्यालयों में भ्रष्‍टाचार, बालू माफिया के आतंक के मुद्दे पर सरकार पर हमले करेगी। कांग्रेस विधायक दल की बैठक में तय किया गया कि जनता से सीधे जुड़े मुद्दों को पार्टी उठाएगी। विधि-‍व्‍यवस्‍था के मुद्दे पर भी सरकार का ध्‍यान आकृष्‍ट कराया जाएगा। 

Edited By: Vyas Chandra