बिहटा । सोन नदी में अवैध बालू खनन की सूचना पर बुधवार को पहुंची बिहटा थाना की पुलिस टीम पर अवैध बालू माफियाओं ने हमला बोल दिया। इस दौरान पुलिस टीम पर जमकर फायरिंग की। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग कर किसी तरह जान बचाई। इस दौरान मौके से पुलिस ने 11 बालू माफियाओं को गिरफ्तार किया है। एक नाव को भी जब्त किया है।

घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि सोन नदी में कटेसर व सुरौधा में अवैध बालू का खनन हो रहा है। पुलिस के पहुंचते ही करीब एक दर्जन नाव पर सवार करीब सवा सौ बालू माफियाओं के गैंग ने पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी तत्क्षण मोर्चा संभाल लिया। जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी फायरिंग की। बालू माफियाओं व पुलिस के बीच फाय¨रग से इलाके में अफरातफरी मच गई। पुलिस की जवाबी कार्रवाई से बालू माफिया भी दहशत में आ गए। नाव लेकर छपरा की ओर भाग निकले। हालाकि, फायरिंग में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। टीम में शामिल पुलिस के अधिकारी व कर्मी भी बाल-बाल बच गए। मौके से इन लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने मौके से 11 बालू माफियाओं को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान पहचान मनेर के हल्दी छपरा निवासी अरुण राय, जय शकर राय, राजेश्वर साव, शकर राय, मुन्ना राय, शिव शकर राय, श्यामलाल, धमर्ेंद्र साव, उपेंद्र साव, अनिल राय, उमा शकर राय के रूप में की गई है। खनन अधिकारी ने दर्ज कराई प्राथमिकी

मामले में खनन अधिकारी नवीन कुमार सिन्हा ने गिरफ्तार किए गए बालू माफियाओं के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। दर्ज प्राथमिकी के आलोक में पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है। वहीं मौके से भाग निकले बालू माफियाओं की गिरफ्तारी को पुलिस ने छापेमारी शुरू कर दी है। गिरफ्तार किए गए माफियाओं से पुलिस गहन पूछताछ कर रही है।

कहते हैं एएसपी

गुप्त सूचना मिली थी कि सुरौधा में सोन नदी में माफिया बालू का अवैध खनन कर रहे हैं। बिहटा थानाध्यक्ष रंजीत कुमार सिंह के नेतृत्व में सब इंस्पेक्टर सुभाष कुमार व तीन सेक्शन पुलिस के जवान छापेमारी में गए थे। वहां कार्रवाई के दौरान बालू माफियाओं ने पुलिस पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए दो राउंड फाय¨रग की। इसके बाद सभी लोग नाव लेकर भागने लगे। भागने के दौरान पुलिस ने एक नाव सहित 11 माफियाओं को गिरफ्तार कर लिया है। सोन नदी में किसी भी सूरत में अवैध खनन को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

मनोज तिवारी, एएसपी

Posted By: Jagran