पटना, जेएनएन। लोकसभा चुनाव में मिली शिकस्त के बाद से नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव गायब हैं। पिछले 16 दिनों से वे कहां हैं और क्या कर रहे हैं? किसी को कुछ पता नही है। करीब दो हफ्ते पहले पटना में राबड़ी देवी के सरकारी आवास पर इफ्तार की दावत से तेजस्वी के नदारद रहने को लेकर भी कई तरह की कहानियां कही जा रही हैं। इस बीच उनके सिंगापुर में होने की खबर भी चर्चा में आ गई है।
लालू प्रसाद के 72वें जन्मदिन पर दिल्ली के राजद कार्यालय में आयोजित समारोह से तेजस्वी की दूरी पर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। ट्वीट करके भले ही उन्होंने अपने पिता को शुभकामनाएं दे दीं, लेकिन पटना से दिल्ली तक किसी भी आयोजन में उपस्थिति नहीं दिखी। यहां तक कि 10 जून को नई दिल्ली में राजद विधायक एवं लालू परिवार के खास भोला यादव की बेटी की शादी में भी उनका इंतजार होता रहा, किंतु सबको निराश होना पड़ा।

29 मई से गायब हैं नेता प्रतिपक्ष
तेजस्वी आखिरी चरण के चुनाव के अंतिम प्रचार के बाद 17 मई से ही ओझल हैं। उन्होंने अपना वोट भी नहीं डाला था। किंतु नतीजे के पांच दिन बाद 29 मई को मीडिया के सामने हार की हताशा से उबरने और पूरी मुस्तैदी के साथ विधानसभा चुनाव के लिए दोबारा उठ खड़े होने का संकल्प जताकर जो गायब हुए तो फिर अभी तक नहीं दिखे।
ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि लालू प्रसाद के उत्तराधिकारी आखिर हैं कहां? तेजस्वी के खास लोग और राजद के वरिष्ठ नेता भी बताने की स्थिति में नहीं हैं कि वह कहां हैं और सियासी उहापोह से उबरकर कब तक प्रकट होंगे। राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा का दावा है कि तेजस्वी दिल्ली में हैं, किंतु मनोज यह भी बताते हैं कि उनसे मुलाकात नहीं है।
लालू परिवार से जुड़े सूत्रों का दावा है कि तेजस्वी अभी सिंगापुर में हैं और थकान मिटा रहे हैं। उनकी बहन रोहिणी आचार्य अपने पति समरेश सिंह के साथ वहीं रहती हैं। समरेश एवरकोर पार्टनर्स नाम की कंपनी चलाते हैं। राजद की समीक्षा बैठक के बाद 29 मई को रोहिणी और तेजस्वी पटना से साथ-साथ निकले थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस