नालंदा, जेएनएन। बिहारशरीफ में बिहार थाना क्षेत्र के कागज़ी मोहल्ला निवासी मो.सऊद की सोमवार की शाम सरेआम गोली मारकर हुई हत्या के बाद मंगलवार को मोहल्लेवासियों ने उसके शव को सड़क पर रखकर जमकर बवाल किया। इस दौरान कागज़ी मोहल्ले की मोड़ को आक्रोशित लोगों ने जाम कर दिया। तेज बारिश के बावजूद भी लोग नहीं हिले।

प्रशासन के खिलाफ की नारेबाजी

सैकड़ों की संख्या में मौजूद मोहल्लेवासी बदमाश की गिरफ्तारी व मृतक के एक आश्रित को नौकरी व मुआवजा की मांग कर रहे थे। आक्रोशितों ने कागज़ी मोहल्ले की मोड़ को जाम कर दिया। स्थानीय लोग और स्वजन प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे। स्वजन पुलिस पर नाकामी का आरोप लगाते रहे। मौके पर डीएसपी इमरान परवेज़, एसडीओ जनार्दन प्रसाद अग्रवाल, सर्किल इंस्पेक्टर मो.मुश्ताक, बिहार थानाध्यक्ष दीपक कुमार समेत भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। डीएसपी व एसडीओ ने समझाने का काफी प्रयास किया वाबजूद इसके आक्रोशित लोग नहीं माने। अंत में मोहल्लेवासियों ने शव को उठाकर हॉस्पिटल मोड़ पर रखकर सड़क जाम कर दिया। फिलहाल माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है।

पहले की पिटाई, फिर मार दी गोली

लहेरी थाना क्षेत्र के श्रम कल्याण केंद्र मैदान के गेट पर सोमवार की शाम पांच बजे बदमाशों ने पहले मो.सऊद को घेरकर करीब दस मिनट तक पिटाई की, फिर उसके पेट में गोली मार दी। इस दौरान बदमाशों ने ताबड़तोड़ हवाई फायरिंग भी की। घटना के वक्त पास में ही नियोजित शिक्षकों का समूह मशाल जुलूस निकालने की तैयारी में था। गोली की आवाज सुनकर उनके बीच भगदड़ मच गई। इस कांड में फिलहाल कुख्यात मनीष पांडेय और बऊआ गिरोह का नाम सामने आ रहा है। गंभीर रूप से जख्मी युवक को पीएमसीएच, पटना रेफर कर दिया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। मृतक बिहार थाना क्षेत्र के कागजी मोहल्ला निवासी मो. सउद खान का पुत्र पप्पन उर्फ मकसूद था। लोगों ने बताया कि युवक श्रम कल्याण केंद्र के गेट के पास खड़ा था। उसी वक्त सात की संख्या में बदमाश आए और उसकी हत्या कर दी।

Posted By: Akshay Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस