पटना [जेएनएन]। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत सोमवार को अपनी 10 दिवसीय यात्रा पर ट्रेन से पटना पहुंचे। आगे मंगलवार से 15 फरवरी तक वे बिहार के विभिन्न जिलों की यात्रा पर रहेंगे।

भागवत के पटना पहुंचने पर स्वयंसेवकों ने उनका भव्य स्वागत किया। आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए भागवत के दौरे को काफी अहम माना जा रहा है। भागवत भाजपा नेताओं से मुलाकात कर प्रदेश की राजनीतिक गतिविधियों  की जानकारी लेंगे। साथ ही आरएसएस के अनुषांगिक संगठनों के प्रदेश पदाधिकारियों से विचार-विमर्श तथा संघ के प्रांत पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

बिहार प्रवास के दौरान वे संघ के विचार परिवार से जुड़े संगठनों की समन्वय बैठक भी लेंगे। प्रमुख के दौरे को लेकर संघ परिवार की विचारधारा से जुड़े 35 संगठन सक्रिय हैं। मोहन भागवत इन सभी संगठनों की मौजूदा स्थिति का लेखाजोखा लेंगे।

बिहार प्रवास के दौरान वे समग्र ग्राम विकास, जैविक खेती को बढ़ावा और कुटुंब प्रबोधन की बैठक में भी हिस्सा लेंगे। मंगलवार को भागवत के मुजफ्फरपुर जाने का कार्यक्रम है। वह 10 फरवरी तक मुजफ्फरपुर में विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लेंगे। भागवत किसान, गौ-पालक, कृषि और कई ग्रामीण विषयों पर आयोजित बैठक की अध्यक्षता करेंगे। संघ प्रमुख बिहार में कृषि के क्षेत्र में हुए नवाचार से भी रूबरू होंगे।

11 और 12 को अहम बैठक

भागवत बिहार की जमीनी हकीकत से रूबरू होने के बाद 11 फरवरी को मुजफ्फरपुर जिला स्कूल परिसर में और 12 फरवरी को पटना में राजेंद्र नगर स्थित शाखा मैदान में संघ और भाजपा नेताओं की बैठक को संबोधित करेंगे। पटना में वे संजय आनंद दिव्यांग पुनर्वास केंद्र जाकर सेंटर की गतिविधियों से रूबरू होंगे। 11 व 12 फरवरी की बैठकें अहम मानी जा रहीं हैं।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस