राज्य ब्यूरो, पटना : राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद जमानत पर रिहा होने के बाद इंटरनेट मीडिया पर काफी सक्रिय हो गए हैं। हर दिन वे कोरोना संक्रमण के धार बनाते हुए सरकार पर हमलावर हो रहे हैं। अब लालू यादव ने बिहार सरकार की तुलना कोरोना से की है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने गुरुवार को ट्वीट करके कहा है कि राज्य सरकार और कोरोना में कुछ समानताएं हैं। दोनों जनजीवन के लिए खतरनाक हैं और दोनों नजर भी नहीं आ रहे हैं। 

बक्सर मामले को लेकर कसा तंज

राजद प्रमुख ने बक्सर के पास गंगा में शवों को लेकर भी राज्य सरकार पर तंज कसा है। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि सरकार ने जीते-जी दवा, ऑक्सीजन, बेड और इलाज नहीं दिया। अब मरने के बाद लकड़ी, दो गज कफन और जमीन नसीब हुआ है। लालू ने लिखा कि शवों को गंगा में फेंककर दुर्गति कर दी है। शवों को कुत्ते नोच रहे हैैं। हिंदुओं के शवों को दफनाया जा रहा है। सरकार इंसानियत को कहां ले जा रही है? 

स्वास्थ्य सेवाओं पर भी उठाया सवाल

अगले ट्वीट में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू यादव ने स्वास्थ्य सेवाओं पर सवाल उठाया है। आरोप लगाया कि संक्रमण के इस दौर में भी सरकार गंभीर नहीं है। जंगलराज चिल्लाने वाले कहां दुबके हुए हैैं। कोई तो सरकार को नैतिकता और जवाबदेही का पाठ पढ़ा दे। 

राबड़ी देवी ने भी कसा तंज, बोलीं कोई सुन नहीं रहा

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी नीतीश कुमार की सरकार पर हमला बोला है। ट्वीट करके उन्होंने कहा है कि कोरोना महामारी में राज्य सरकार कहीं नहीं दिख रही। आम आदमी मदद की गुहार लगा रहा है। उन्हें ऑक्सीजन चाहिए, दवाई चाहिए, अस्पताल में बेड चाहिए, लेकिन कोई सुन नहीं रहा।