पटना, बिहार ऑनलाइन डेस्‍क। Bihar Politics: बिहार की राजधानी पटना में इंडिगो एयरलाइंस के अधिकारी रूपेश सिंह (Murder of Indigo Airlines Officer Rupesh Singh) की हत्‍या के बाद कानून-व्‍यवस्‍था के मुद्दे पर विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर है। रूपेश की हत्‍या के बाद से राजद (RJD) और कांग्रेस (Bihar Congress) के नेता लगातार बिहार की सरकार और मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर व्‍यक्तिगत हमले कर रहे हैं। राजद के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व उप मुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव (Tejaswi Yadav) ने अब कहा है कि राज्‍य में बढ़ते अपराध नियंत्रित नहीं हुए तो महागठबंधन में शामिल राजद, कांग्रेस और कम्‍युनिस्‍ट दलों के सभी विधायक दिल्‍ली कूच करेंगे। इधर, तेजस्‍वी ने नीतीश कुमार को एक पत्र लिखकर सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े किए हैं।

तेजस्‍वी ने कहा राष्‍ट्रपति से करेंगे बिहार सरकार की शिकायत

राजद नेता तेजस्‍वी यादव ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि नीतीश कुमार लगातार 16 साल से बिहार के मुख्‍यमंत्री हैं और गृह विभाग भी उन्‍होंने खुद के पास ही रखा है। ऐसे में बिहार की बिगड़ती कानून-व्‍यवस्‍था के लिए वे खुद ही सीधे तौर पर जिम्‍मेदार हैं। वे ये कहकर बच नहीं सकते कि रूपेश सिंह के हत्‍यारे पकड़े जाएंगे।

राष्‍ट्रपति को बताएंगे बिहार की जमीनी हकीकत

उन्‍होंने कहा कि एक महीने के अंदर अगर बिहार की कानून व्‍यवस्‍था नहीं सुधरी तो महागठबंधन में शामिल दलों के सभी विधायक दिल्‍ली कूच करेंगे। दिल्‍ली जाकर महागठबंधन के नेता राष्‍ट्रपति से मिलेंगे और बिहार सरकार की शिकायत करेंगे। महागठबंधन के नेता राष्‍ट्रपति से मिलकर उन्‍हें बिहार की जमीनी हकीकत बताएंगे।

सीएम नीतीश कुमार को चिट्ठी लिखकर बोला हमला

इसी के साथ तेजस्‍वी ने बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को एक चिट्ठी लिखकर बिहार में बढ़ते क्राइम पर उनको घेरा है। तेजस्‍वी ने अपनी चिट्ठी में कहा है कि बिहार में लूट, हत्‍या, चोरी, हत्‍या और दुष्‍कर्म के मामले बेतहाशा बढ़ गए हैं। दूसरी तरफ मुख्‍यमंत्री गृह विभाग का जिम्‍मा संभालने के बावजूद अपराध नियंत्रण के जिम्‍मेदार तंत्र को ठीक करने की बजाय इतिहास खोदने पर लगे हैं।

जदयू को बताया थर्ड ग्रेड की पार्टी

तेजस्‍वी ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि थर्ड ग्रेड की पार्टी का मुखिया होने के बावजूद नीतीश कुमार को जबरन सीएम बनाया गया है। इसके बावजूद राज्‍य का संवैधानिक प्रधान होने के कारण वे अपनी जिम्‍मेदारी से नहीं भाग सकते हैं। उनके 16 साल के कुशासन से पुराना काल बेहतर था, ऐसा बिहार की जनता मानती है। तेजस्‍वी ने कहा है कि नीतीश सरकार के अधिकारी लोगों का फोन तक नहीं उठाते हैं।

इस पूरे घटनाक्रम के बीच बिहार के डीजीपी एसके सिंघल शनिवार की शाम पटना एसएसपी के दफ्तर में पहुंचे। यहां वे करीब चार घंटे तक रहे और पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर रूपेश हत्‍याकांड में अब तक की प्रगत‍ि का जायजा लिया। उन्‍होंने कहा कि मामले का उद्भेदन जल्‍द कर लिए जाने की उम्‍मीद है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021