पटना [जेएनएन]। सवर्ण आरक्षण को लेकर राजद की बयानबाजी लगातार जारी है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने इसे सवर्णों के लिए झुनझुना बताया है। वहीं कांग्रेस इससे इतर सवर्ण आरक्षण को बिहार में जल्द से जल्द लागू करने के लिए नीतीश सरकार पर प्रेशर बना रही है। वहीं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने इसे सवर्ण आरक्षण की निंदा की है। 

राजद के वरीय नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि सवर्णों को झुनझुना थमा दिया गया है। उन्होंने कहा कि इससे समाज का कोई भला होनेवाला नहीं है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सवर्ण समाज को उल्लू बना रही है। 

उधर बिहार कांग्रेस सवर्ण आरक्षण से काफी खुश है तथा इसे जल्द से जल्द बिहार में लागू कराना चाहती है। इसके लिए पार्टी नीतीश सरकार पर प्रेशर भी बनाने लगी है। इस बाबत कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि नीतीश सरकार बिहार में सवर्ण आरक्षण को जल्द लागू करे। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार ने जब इसे लागू कर दिया है तो फिॅर बिहार में इसे लेकर क्यों देरी हो रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को यदि कोई दिक्कत लग रही है तो वह सभी पार्टियों से बात कर इस पर सहमति बनाए।  

गौरतलब है कि राजद सवर्ण समाज के गरीबों को नौकरियों व शिक्षा में 10 परसेंट आरक्षण देने के केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ है। इसे लेकर राजद ने लोकसभा में भी इसका विरोध किया था। राजद सांसद जयप्रकाश नारायण यादव ने जातीय जनगणना के आधार पर आरक्षण देने की मांग की तथा लोकसभा में कहा था कि सवर्ण आरक्षण बिल के वर्तमान स्वरूप का वे विरोध करते हैं। जातीय जनगणना के आंकड़ों में जिसकी जितनी हिस्सेदारी होगी, आरक्षण में उसकी उतनी भागीदारी होनी चाहिए। इतना ही नहीं, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी सवर्ण आरक्षण का विरोध किया था।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप