पटना, जेएनएन। बिहार के राजनीतिक गलियारे में एक बार फिर पोस्टर से बयानबाजी पटना की सड़कों पर देखने को मिली है। इस बार पोस्टर राजद की तरफ से लगाया गया है जिसमें सीएम नीतीश कुमार को लूट एक्सप्रेस और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी को झूठ एक्सप्रेस बताया गया है। पोस्टर में सबसे ऊपर लिखा है बिहार को बर्बाद करनेवाला ट्रबल इंजन और नीचे सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम सुशील मोदी ट्रेन के रूप में दिखाए गए हैं। 

इससे पहले भी बिहार में जदयू और राजद ने पोस्टर के जरिए एक-दूसरे पर निशाना साधा था। जहां जदयू ने राजद के 15 साल बनाम 15 साल की तुलना करते हुए पोस्टर लगाया था, जिसमें लिखा था-हिसाब दो, हिसाब लो। तो इसके जवाब में राजद ने पोस्टर लगाया था जिसमें लिखा था ‘झूठ की टोकरी, घोटालों का धंधा’।

इतना ही नहीं, राजद ने लालू प्रसाद औश्र नीतीश कुमार के व्यक्तित्व की तुलना करते हुए आधा दर्जन से अधिक पोस्टर जारी किए थे। 

राजद ने अपने पोस्टर में एक तरफ लालू प्रसाद की तस्वीर लगाकर उन्हें ‘बिहार का बल’ बताया था तो उसके ठीक सामने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर लगाकर उनके बारे में ‘बिहार का छल’ टिप्पणी की थी। 

इसी प्रकार लालू को ‘जनसेवा के जनक‘ तो सीएम को ‘कुर्सी की सनक’ लिखकर दिखाया गया है। अन्य पोस्टरों में भी ‘जनता का सुख’ बनाम ‘कुर्सी की भूख’, ‘जनता का सारथी’ बनाम ‘कुर्सी का लालची’, ‘एकता अखंडता का मंत्र’ बनाम ‘स्वार्थ, छल षणयंत्र’ और ‘गरीब का बल’ बनाम ‘गरीब से छल’ जैसे नारों के दोनों पार्टी प्रमुखों की तुलना की गई थी।

इससे पहले जदयू के पार्टी कार्यालय के बाहर एक बड़ा पोस्टर लगाया गया था जिसमें बिहार में जदयू ने 15 साल बनाम 15 साल के शासन को दिखाते हुए राजद की तुलना गिद्ध से की गई थी तो वहीं जदयू ने खुद को कबूतर, यानि शांति का प्रतीक बताया था।

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस