पटना [जेएनएन]। राजधानी में मुख्यमंत्री आवास के बाहर शुक्रवार दोपहर धरने पर बैठे बड़हरा (भोजपुर) के राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) विधायक सरोज यादव (MLA Saroj Yadav) को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। उन्हें देर शाम तक गर्दनीबाग थाने में बैठाकर रखा गया। पुलिस ने उन्‍हें रात में बांड भराकर रिहा कर दिया। प्रतिबंधित क्षेत्र में धरना देने को लेकर विधायक के खिलाफ सचिवालय थाने में एफआइआर (FIR) भी दर्ज की गई है।

विदित हो कि विधायक से मोबाइल पर 10 लाख रुपये की रंगदारी (Extortion) मांगी गई है तथा नहीं देने पर हत्‍या की धमकी (Threat to kill) दी गई है। इसके पहले उनके भोजपुर स्थित अावास के पास गोलीबारी (Firing) भी की गई। विधायक के अनुसार पुलिस इन मामलों में कार्रवई नहीं कर रही है।

विधायक ने सुनाई आपबीती

विधायक ने कहा कि बीते पांच सितंबर को चचेरे भाई दुर्गेश यादव से बदमाशों ने मारपीट की थी। अगले दिन उनके निजी सहायक सुखदेव यादव पर जानलेवा हमला किया गया। 10 सितंबर की रात भोजपुर जिले के बड़हरा थानांतर्गत केशोपुर गांव में उनके बड़े भाई के साले निर्मल कुमार पर फायरिंग की गई। दूसरे ही दिन उनके मोबाइल पर मैसेज भेज कर 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई और रकम नहीं मिलने पर जान से मारने की धमकी दी गई। चारों घटनाओं को ले विभिन्न थानों में एफआइआर दर्ज है, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

धरना पर बैठे सरोज यादव, गिरफ्तार

पुलिस के रवैये के खिलाफ और सुरक्षा प्रदान करने की मांग को लेकर शुक्रवार की दोपहर 12 बजे भोजपुर विधायक सरोज यादव मुख्यमंत्री आवास के बाहर आमरण अनशन करने बैठ गए। पुलिसकर्मियों ने उन्हें वहां से हटने को कहा, लेकिन वे नहीं माने। इसको लेकर उनके बीच तीखी नोक-झोंक हुई। फिर, पुलिस ने उन्हें जबरन वहां से हटा दिया और हिरासत में लेकर थाने चली गई। रात में उन्‍हें बांड भरवा कर रिहा कर दिया गया।

 

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस