जागरण टीम, पटना। बिहार विधान मंडल का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो गया है। पहले ही दिन विपक्ष ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। शराबबंदी इसमें प्रमुख मुद्दा बना है। पटना में सदन से बाहर आने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के मनेर विधायक भाई वीरेंद्र ने नीतीश सरकार पर हमला किया। एक सवाल के जवाब में आरजेडी प्रवक्ता ने कहा कि बिहार में मंत्री से लेकर अधिकारी तक शराब पी रहे हैं। अगर मैं नाम बताना शुरू कर दूं तो सरकार की धकधकी बढ़ जाएगी। राजद नेता के बयान पर जदयू प्रवक्ता ने कहा कि समय आ गया है, चिथड़े उड़ जाने वाले हैं। 

भाई वीरेंद्र ने कहा कि बिहार में शराबबंदी नहीं है। केवल सरकार दिखावा कर रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की इर्द-गिर्द रहने वालों की देखरेख में खुलेआम बोतलें बिक रही हैं। राजद नेता ने कहा कि बिहार में टैक्स देकर पोस्टिंग कराई जाती है ऐसे में शराबबंदी नामुमकिन है। भाई वीरेंद्र ने कहा कि सत्ता में बैठे लोग शराब का सेवन करते हैं। उन्होंने कहा कि जब मैं यह कह रहा हूं कि सत्तारूढ़ दल शराब पी रहा है तो उनको यह डर भी है कि कहीं में नाम ना ले लूं। मेरी जानकारी सरकार के दिल में धकधकी बढ़ा सकती है। भाई वीरेंद्र ने कहा कि यही बिहार की जमीनी हकीकत है, जिसे में दावे के साथ कह रहा हूं। वहीं राजद के आरोप पर पूर्व मंत्री व एमएलसी नीरज कुमार ने कहा कि समय आ रहा है। आरजेडी थोड़ा इंतजार करे। सभी प्रवचन करता की पीड़ा बढ़ने वाली है। शराबबंदी विपक्ष को पच नहीं रही है। नीरज ने कहा कि अगर कानून तोड़ने की जानकारी राजद के पास है तो टाल फ्री नंबर पर काल क्यों नहीं करता। आरजेडी खुद सामाजिक रूप से गुनाहगार है। इस दौरान नीरज ने लालू यादव पर भी हमला किया। कहा कि विपक्ष कुछ भी बोलने से पहले अपने नेता पर भी ध्यान आकृष्ट करे। 

Edited By: Akshay Pandey