जागरण संवाददाता, बेगूसराय: पदाधिकारियों या कर्मियों की विदाई तो आपने कई बार देखी होगी, मगर किसी स्वान का भव्य विदाई समारोह का आयोजन कम होता है। दरअसल सुरक्षा विभाग में टीम के हरेक सदस्य को महत्वपूर्ण स्थान देने की परंपरा रही है। इसी के तहत गुरुवार को बरौनी रिफाइनरी के सीआइएसएफ यूनिट में कार्य करने वाले स्वान रॉकी के लिए भव्य विदाई समारोह आयोजित किया गया। इसमें उप महानिरीक्षक पूर्वी क्षेत्र पीके ठाकुर, यूनिट प्रमुख कमांडेंट आरके सिंह भी शामिल हुए।

माला पहनाकर सम्मान प्रकट किया

सीआइएसएफ के स्वान दस्ता प्रभारी सब इंस्पेक्टर संजीत कुमार सिंह ने बताया कि 2011 से सीआइएसएफ के महत्वपूर्ण सदस्य रहे 'रॉकी' का विदाई समारोह सदस्यों के प्रति सीआइएसएफ का प्रेम प्रकट करने के लिए किया गया था। मानव बल सदस्यों की तरह ही स्वान रॉकी को खुली जीप में बैठाकर जवानों ने गाड़ी को रस्से से खींचा और भव्य मंच का निर्माण कर उस पर विराजमान कराया। उप महानिरीक्षक ने उन्हें फूलों का माला पहनाकर सम्मान प्रकट किया। उन्होंने बताया कि उसकी निगरानी का जिम्मा प्रधान आरक्षक जीडी गुरफान अहमद के पास था। आठ माह की उम्र से रॉकी हमारा सदस्य था।

जिला प्रशासन की कई बार मदद कर चुका है रॉकी

पांच दिसंबर 2011 को वह हमारी टीम में शामिल हुआ था और 20 सितंबर 2021 को रिटायर्ड हो गया। नियम के अनुसार अवकाश प्राप्त कर चुके स्वान को पशुप्रेमी एनजीओ को सौंप दिया जाता, परंतु, बेगूसराय में एसी कोई बड़ी संस्थान नहीं होने के कारण यह अपनी अंतिम सांस तक यूनिट में ही रहेगा। जिला प्रशासन भी रॉकी की कई बार मदद ले चुका है। फरार अपराधियों को पकड़ने और नशीले पदार्थ के बरामद करने में रॉकी ने अहम भूमिका निभाई थी। वह पिछले 2015 में पंजाब में आयोजित स्वान के एक राष्ट्रीय प्रतियोगिता में कांस्य पदक प्राप्त कर डाग का खिताब जीता था। इधर, बरौनी रिफाइनरी की संचार पदाधिकारी अंकिता श्रीवास्तव ने बताया कि सीआइएसएफ यूनिट का निरीक्षण करने के उपरांत उप महानिरीक्षक ने बरौनी रिफाइनरी प्रमुख व कार्यपालक निदेशक शुक्ला मिस्त्री के साथ एक मीटिंग भी की तथा सुरक्षा के पहलुओं पर विस्तार से चर्चा हुई। मौके पर यूनिट प्रमुख कमांडेंट रवीश कुमार सिंह, उप कमांडेंट रमण कुमार सिंह, सहायक कमांडेंट बीके सिंह, निरीक्षक कार्य मो. इरफाइन व तेज कुमार किरो सहित सभी पदाधिकारी मौजूद थे। 

Edited By: Akshay Pandey