राज्य ब्यूरो, पटना। बिहार की राजनीति में इन दिनों बयानबाजी का दौर चल रहा है। सरकार में शामिल राजद कोटे के मंत्री अपने बयानों से सरकार की किरकिरी करा रहे हैं तो दूसरी ओर जदयू के अंदर संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा भी अपने बयानों से महागठबंधन की मुश्किलें बढ़ा रहे हैं।

इस बीच जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामचंद्र प्रसाद सिंह (आरसीपी सिंह) ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि बिहार की महागठबंधन सरकार समाप्त हो चुकी है। अब सिर्फ घोषणा होना बाकी है। सिंह के इस बयान से बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। 

आरसीपी सिंह ने पटना में यह बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बिहार में सात दलों को मिलाकर महागठबंधन की सरकार बनी। लेकिन अब सात दलों की यह सरकार समाप्त हो चुकी है। जदयू-राजद कोटे के मंत्रियों के कैसे-कैसे बयान आ रहे हैं। जो यह बताने के लिए काफी हैं कि इन दलों का गठबंधन समाप्त हो चुका है। अब सिर्फ घोषणा होना शेष है। दोनों दल एक-दूसरे को देख रहे हैं कि पहले कौन ब्लिंक करता है।

आरसीपी सिंह ने यह भी कहा कि अब बिहार में सरकार है ही नहीं। महागठबंधन सरकार की कोई विचारधारा नहीं। इन्होंने एक भी कार्यक्रम नहीं बनाया। जब कार्यक्रम ही नहीं बना तो सरकार कैसी? नीतीश पर हमलावर होते हुए उन्होंने कहा कि उनकी एक पहचान थी। परंतु अब वे पूरी तरह फेल हो चुके हैं। उन्हें कमजोर क्या करना है। वे पूरी तरह फेल हो चुके हैं।

कौन-कौन सी बातों पर हो रही बयानबाजी

  • शराबबंदी के बावजूद सारण में जहरीली शराब पीने की वजह से हुई लोगों की मौत को लेकर।
  • तेजस्वी यादव की ताजपोशी किए जाने को लेकर दिए गए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान को लेकर।
  • बिहार सरकार की ओर से करोड़ों रुपये के जेट इंजन वाले विमान और हेलीकॉप्टर की खरीद को लेकर।
  • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संबंध में दिए गए सुधाकर सिंह के बयान को लेकर। इस मामले में सुधाकर को नोटिस भी मिल चुका है।
  • रामचरितमानस को लेकर शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर के बयान को लेकर।
  • जदयू नेता उपेंद्र कुशवाहा के पार्टी छोड़ने के कयासों को लेकर।

Edited By: Yogesh Sahu

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट