पटना, जागरण संवाददाता। Ramnavami Celebration in Patna: कोरोना संक्रमण की पाबंदियों के बीच रामनवमी का त्‍योहार पटना के ज्‍यादातर लोगों ने अपने घरों में ही मनाया। पटना जंक्‍शन स्थित हनुमान मंदिर सहित शहर के सभी बड़े मंदिरों के दरवाजे श्रद्धालुओं के लिए बंद रहे। हालांकि पाबंदियों के बावजूद कुछ श्रद्धालु मंदिर तक पहुंचे और दरवाजे पर ही शीष नवाकर घर लौटे। राजवंशी नगर के पंचरूपी हनुमान मंदिर के सामने भी ऐसा ही नजारा दिखा। प्रमुख मंदिरों के सामने विधि-व्‍यवस्‍था के लिए पुलिस बल की तैनाती की गई थी। राज्‍य सरकार ने 15 मई तक सभी धार्मिक स्‍थलों को बंद करने का निर्देश दे रखा है।

सन्नाटे के बीच बदला गया ध्वज

कोरोना संक्रमण के चलते मंदिरों के कपाट बंद होने के बाद वहां के पुजारियों ने सन्नाटों के बीच मंदिरों का ध्वज बदले। करीब तीन सौ साल पुराने पटना के महावीर मंदिर समेत अन्य मंदिरों में रामभक्तों के बिना रामनवमी का पर्व मनाया गया। महावीर मंदिर समेत अन्य मंदिरों में रामनवमी पर ध्वज मंदिर के पुरोहितों ने बदल कर प्रभु श्रीराम के जयकारे लगाए। रामनवमी पर पटना के महावीर मंदिर समेत अन्य मंदिरों में भी मंदिर के पुरोहितों ने रामचरित मानस, सुंदरकांड का पाठ किए।

सुरक्षा कर्मी मंदिर के बाहर मौजूद

मंदिरों के बाहर भक्तों की भीड़ अधिक न हो जिसके लिए सुरक्षा कर्मी भी तैनात थे। महावीर मंदिर समेत अन्य मंदिरों के पास सुरक्षाकर्मी मौजूद दिखे। पिछले साल भी काेरोना संक्रमण के कारण राज्य में लॉकडाउन लगा दिया गया था। ऐसे में मंदिरो के द्वार भी बंद थे। वहीं इस वर्ष भी कुछ ऐसा देखने को मिला। पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर में जहां रामनवमी पर हजारों भक्तों की भीड़ कतार में खड़ी होती थीं वहीं आज मंदिर के बाहर सन्नाटा पसरा है।

महावीर मंदिर के काउंटर से नैवेद्यम लेते दिखे लोग

रामनवमी को लेकर पटना के महावीर मंदिर की ओर  से मंदिर के बाहर बने नैवेद्यम काउंटर खुला रहा। जहां पर श्रद्धालु प्रसाद खरीदते नजर आए। मंदिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि संक्रमण के कारण भले ही मंदिर बंद हैं लेकिन श्रद्धालु मंदिर के फेसबुक पेज व जियो टीवी पर पूजन का ऑनलाइन दृश्य देख सकते हैं।

यह भी पढ़ें- Ramnavmi 2021: कोरोना गाइडलाइन के बीच आज मनेगी रामनवमी, मंदिरों में नहीं कर पाएंगे दर्शन

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप