पटना, जेएनएन। लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने सवर्ण आरक्षण के विरोध में वोट किए जाने को लेकर राजद पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को दस फीसदी के आरक्षण का विरोध लालू प्रसाद के राजद की जड़ उखाड़ देगी।

रामविलास पासवान ने पटना में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि सवर्ण आरक्षण को लेकर केंद्र सरकार की सराहना की और कहा कि यह निर्णय ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के निर्णय से हम खुश हैं। सभी कानूनी पहलुओं को ध्यान में रख कर निर्णय लिया गया है, किसी भी वर्ग का हिस्सा नहीं छीना जा रहा है। जब किसी का हक नहीं छीना जा रहा है तो विरोध क्यों किया जा रहा है? 

पासवान ने कहा कि राजद आगामी लोकसभा चुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। पासवान ने दावा किया कि आरक्षण विधेयक का लगातार विरोध करने से बिहार में महागठबंधन विभाजित हो सकता है। उन्होंने जोर देकर कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली एनडीए को इसका फायदा पहुंचेगा और यह समाज में सद्भाव का कारण बनेगा।

केंद्रीय मंत्री ने इसकी तुलना एक मछुआरे के जाल में आयी एक बड़ी मछली से की, जिसकी वजह से अन्य मछुआरों में ईर्ष्या का भाव पैदा हो गया है। उन्होंने कहा कि इस बड़े राजनीतिक कदम के मामले में विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ईर्ष्या कर रहे हैं। उन्हें पता नहीं है कि कैसे प्रतिक्रिया दें?

विधेयक का विरोध करने वाले राष्ट्रीय जनता दल पर हमला करते हुए पासवान ने कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह और जगदानंद सिंह सवर्ण समुदाय से आते हैं और उनके लिए वोट मांगना भी कठिन होगा। पासवान ने विधेयक को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि संवैधानिक संशोधन विधेयक संसद में पारित हो चुका है और लगभग सभी राजनीतिक दलों ने उसका समर्थन किया है।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप