पटना [राजेश ठाकुर]। बिहार में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की टेंशन थम नहीं रही है। उनके खिलाफ लगातार मुकदमे हो रहे हैं। राहुल कहीं 'चौकीदार' तो कहीं 'मोदी' के फेर में फंस रहे हैं। बिहार में शनिवार उनके लिए मुश्किलें लेकर आया है। राहुल गांधी को पटना के एक कोर्ट ने जहां सम्‍मन जारी कर दिया है, वहीं भोजपुर के स्‍थानीय कोर्ट में उनके खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज हो गया है। इसके पहले पिछले सप्‍ताह ही पूर्णिया में भी एक मामला दर्ज हुआ है।     

नया मामला भोजपुर का 

नया मामला भोजपुर के आरा का है। दरअसल 26 अप्रैल को समस्तीपुर की चुनावी सभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लेकर 'चौकीदार चोर है' का नारा भीड़ से लगवाया था। इसे लेकर आरा के अधिवक्ता सत्यव्रत ने न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में एक परिवाद पत्र दायर किया है। इसकी सुनवाई 29 अप्रैल निर्धारित की गई है। 

तेजस्‍वी को भी बनाया गया आरोपी

आरा के मामले में समस्तीपुर के जिलाधिकारी एवं कुछ न्यूज़ चैनल को गवाह बनाया गया है। उस कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी मंच साझा किया था। इसलिए परिवाद पत्र में राहुल के साथ तेजस्‍वी को भी आरोपी बनाया गया है। परिवादी अधिवक्ता सत्यव्रत ने भादवि की धारा 124(क), 505(1)(ख) के तहत मामला दायर किया है। परिवाद पत्र में कहा गया है कि 26 अप्रैल को समस्तीपुर की सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'चौकीदार चोर है' का नारा लगवाकर राहुल गांधी ने भारतीय संस्कृति एवं उसकी नैतिकता को कथित रूप से ध्वस्त किया है।

सुशील मोदी के केस पर सम्‍मन जारी

बता दें कि आज ही पटना के सीजेएम कोर्ट ने राहुल गांधी के खिलाफ सम्‍मन जारी किया है। उन्‍हें कोर्ट में 20 मई को उपस्थित होने को कहा है। मानहानि का यह केस 19 अप्रैल को बिहार के डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने किया था। इसे लेकर उन्‍होंने 26 अप्रैल को शपथ पत्र देकर पटना के सीजेएम कोर्ट में बयान भी दर्ज कराया था। विदित हो कि राहुल गांधी ने बीते 13 अप्रैल को बेंगलुरु से कुछ दूर स्थित कोलार में अपनी एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए चाेरों के उपनाम मोदी होने को लेकर सवाल किया था। उन्होंने इस बात को कई बार दोहराया। मीडिया ने उनकी बात को प्रमुखता दी। इस घटना से आहत होकर सुशील मोदी ने केस दर्ज कराया है। 

पूर्णिया में भी 'मोदी' के फेर में केस

इसके अलाावा बिहार के पूर्णिया जिले में भी 'मोदी' उपनाम को लेकर मुकदमा दर्ज हुआ हैा पूर्णिया के कसबा के मोदी टोला निवासी मनोज कुमार मोदी ने भी परिवाद दायर किया है। परिवाद में उन्‍होंने राहुल गांधी के कर्नाटक में दिए बयान का उल्‍लेख करते हुए कहा है कि मोदी समुदाय को चोर कहने से यह समाज आहत है। राहुल गांधी ने जनसभा में कहा था कि चोरों के उपनाम मोदी हैं। यह मोदी समुदाय के प्रति गलत धारणा बनाने की कोशिश है। मनोज कुमार मोदी ने यह मामला 24 अप्रैल को दर्ज कराया था। इस पर भी सुनवाई होनेवाली है।

Posted By: Rajesh Thakur