दानापुर, (पटना) संवाद सहयोगी। करीब आठ महीने पहले एक विवाहिता की हत्‍या कर शव को गायब कर दिए जाने की प्राथमिकी दानापुर के थाने में दर्ज की गई। मायके वालों ने पुलिस को बताया कि पति और ससुराल के दूसरे सदस्‍यों ने मिलकर दहेज के लिए उनकी बेटी को मार डाला और शव को गायब कर दिया। इसके बाद क्‍या था पति समेत ससुराल के सभी सदस्‍य गिरफ्तारी से अपनी जान बचाने के लिए इधर से उधर भागते फिर रहे थे। पूरे परिवार का दिन-रात का चैन हराम हो गया। रुपए-पैसे की बर्बादी हुई सो अलग। इधर, मामले में दिलचस्‍प मोड़ तब आया जब मारी जा चुकी युवती बंका घाट के पास सकुशल मिल गई। अब पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है।

2020 में ससुराल से गायब हो गई थी जूही

जानकारी के अनुसार, अक्टूबर 2020 में जूही ससुराल से गायब हो गई थी। कांड के अनुसंधानकर्ता उषा कुमारी ने बताया कि जूही की मां मंजू देवी ने   पति समेत ससुराल वालों के विरुद्ध दहेज के लिए हत्या कर शव गायब करने आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था। तभी से मामले की छानबीन की जा रही थी। सूचना पर बंकाघाट से गुरुवार को जूही को सकुशल बरामद कर थाना लाया गया है। उन्होने बताया कि आगे की कार्रवाई की जा रही है।

पांच अक्‍टूबर को कराई गई प्राथमिकी

पांच अक्टूबर 2020 को बिहटा थाना क्षेत्र के भगवतीपुर निवासी स्व नंद किशोर वर्मा की पत्नी मंजू देवी ने जूही के पति सन्नी कुमार ससुर श्रवण महतो समेत पांच लोगो के विरुद्ध दहेज के लिए हत्या कर शव को गायब करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया था। इसके बाद से पुलिस छानबीन में जुटी थी। पिछले करीब 10 माह साल से पुलिस छानबीन में लगी थी। जूही के ससुर श्रवण महतो ने बताया कि साजिश के हमलोगों के विरुद्ध मामला दर्ज कराया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप