पटना [राज्य ब्यूरो]। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की हाल ही में हुई चार दिवसीय जापान यात्रा के दौरान जिन मुद्दों पर उनकी जापान के प्रधानमंत्री शिंजे अबे व विदेश मंत्री तथा नारा के गवर्नर से चर्चा हुई अब उसके फलाफल पर काम होगा। भारत में जापान के राजदूत के स्तर पर इसे देखा जाएगा। जापान के प्रधानमंत्री सिंजे अबे ने इस बारे में भारत में जापान के राजदूत केंजी हीरामत्सू को व्यक्तिगत रूप से निर्देश दिया है। केंजी हीरामात्सू ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस बारे में पत्र लिखा है।

हीरामात्सू ने मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में कहा है कि उनकी जापान यात्रा के बारे में उन्हें यह जानकारी मिली है कि वह काफी लाभकारी रही है। जापान के राजदूत ने यह लिखा है कि यह प्रसन्नता की बात है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी जापान यात्रा के क्रम में नारा और हिरोशिमा की यात्रा की। इस यात्रा से जापान के इतिहास और हमारे आत्मिक संबंधों में और प्रगाढ़ता आयी है। मेरी यह सोच है कि नारा के गवर्नर सोगो आरई से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मुलाकात के दौरान रचनात्मक विमर्श हुआ।

इस चर्चा के बाद नारा प्रीफेक्चर और बिहार के साथ संबंधों में नजदीकी आएगी। हीरामात्सू ने कहा कि बौद्ध हेरिटेज से समृद्ध इन दोनों प्रदेश के बीच आपसी सहयोग बढ़ेगा। अपनी ओर से हम सहयोग को तैयार खड़े हैैं।

जापान के राजदूत ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि जापान के लिए बिहार का विशेष महत्व है क्योंकि हमारे बीच न केवल सांस्कृतिक और धार्मिक साझेदारी है बल्कि संपर्कता के लिहाज से भी यह नीतिगत महत्व का विषय है।

उन्हें उम्मीद है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सशक्त नेतृत्व में यह निरंतर सहयोग बिहार और जापान के बीच आर्थिक के साथ-साथ सांस्कृतिक साझेदारी को और आगे बढ़ाएगा। जापान के राजदूत सहयोग के संयुक्त प्रयास को लेकर जल्द ही मुख्यमंत्री से मुलाकात भी करेंगे।

मालूम हो कि इसी वर्ष 18 फरवरी को मुख्यमंत्री एक प्रतिनिधिमंडल के साथ चार दिवसीय यात्रा पर जापान गए थे। उक्त प्रतिनिधिमंडल में पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव सहित कई महकमों के प्रधान सचिव व मुख्यमंत्री सचिवालय के आला अधिकारी शामिल थे। उन्नीस फरवरी को मुख्यमंत्री ने जापान के प्रधानमंत्री सिंजे अबे से टोक्यो में मुलाकात की थी। इसके पूर्व 19 फरवरी को ही मुख्यमंत्री ने जापान के विदेश मंत्री टारो कोनो से भी भेंट की थी। जापान यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने आधारभूत संरचना से जुड़े कई प्रोजेक्ट पर चर्चा की थी।

Posted By: Ravi Ranjan