पटना, जागरण संवाददाता। बिहार के तीन दिवसीय दौरे पर आए राष्ट्रपति कोविन्द (President Ramnath Kovind) के कार्यक्रम का आज आखिरी दिन है। बुधवार को पटना पहुंचे राष्‍ट्र्र्र्रपति ने लेाकतंत्र के मंदिर से लेकर महावीर और ह‍रमंदिर तक गए। बुद्ध स्‍मृति पार्क का भी दौरा किया। खादी माल भी गए। इन तीन दिनों में राष्‍ट्रपति एवं देश की प्रथम महिला नागरिक सविता कोविन्‍द का जगह-जगह भव्‍य स्‍वागत किया गया। बिहारी कहे जाने पर महामहीम ने काफी प्रसन्‍नता जताई। 

(बुद्ध स्‍मृति पार्क से निकलने के बाद गाड़ी रोकवा कर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द नीचे उतरे। इस दौरान दोनों ओर खड़े लोगों का हाथ हिलाकर उन्‍होंने अभिवादन स्‍वीकार किया। जागरण)

महावीर मंदिर में की पूजा-अर्चना, की परिक्रमा 

शुक्रवार को सुरक्षा के कड़े इंतजाम के बीच राष्‍ट्रपति ने अपनी धर्मपत्‍नी सविता कोविन्‍द के साथ महावीर मंदिर में दर्शन किया। राष्ट्रपति ने आम भक्तों की तरह हाथ-पैर धोकर मंदिर परिसर में प्रवेश किया। मंदिर की ओर से हाथ पैर धोने की व्यवस्था की गई थी। उन्‍होंने नैवेद्यम का भोग लगाया।आचार्य किशोर कुणाल ने उन्हें पूजा-अर्चना कराई। इसके बाद गर्भ गृह की परिक्रमा की।

(राष्‍ट्रपति को राममंदिर की प्रतिकृति सौंपते आचार्य किशोर कुणाल। राष्‍ट्रपति ने कहा कि यहां की रामरसोई की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है।)

देशभर में विख्‍यात हो गया है पटना का महावीर मंदिर 

राष्ट्रपति ने महावीर मंदिर में स्थापित दो प्रतिमा की चर्चा देश की प्रथम महिला से की। बताया कि देश का पहला हनुमान मंदिर है जहां हनुमान की दो युगल प्रतिमा है। एक मनोरथ को पूर्ण करने वाले और दूसरा संकट हरने वाले हैं। मंदिर की प्रशंसा करते हुए कहा ये देश का विख्यात मंदिर बन गया है। यहां से अयोध्या में संचालित राम रसोई की प्रशंसा पूरी दुनिया में हैं। राष्ट्रपति ने महावीर मंदिर द्वारा चल रहे कैंसर संस्थान, महावीर वात्सल्य व विभिन्न हॉस्पिटल के बारे में जानकारी ली।

(राष्‍ट्रपति को धार्मिक पुस्‍तक सौंपते आचार्य किशोर कुणाल। इस दौरान राष्‍ट्रपति ने अपनी धर्मपत्‍नी से मंदिर की विशेषताओं की चर्चा भी की। )

राज्‍यपाल के रूप में कई बार की पूजा-अर्चना 

राष्ट्रपति को चेन्नई से बनकर आया विराट मंदिर का प्रतीक चिन्ह, नैवेद्यम, शाल भेट किया गया। आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि राष्ट्रपति बनने के बाद रामनाथ कोविन्‍द पहली बार आए हैं। वैसे राज्यपाल रहते तीन चार-बार आ चुके हैं। कुणाल ने कहा कि राष्ट्रपति भवन आकर अपनी पुस्तक दमन तक्षकों का भेंट करेंगे। पुस्तक में कुणाल के पुलिस नौकरी से जुड़ी बातें हैं जिस पर राष्ट्रपति ने उन्हें आने का आमंत्रण भी दिया। राष्ट्रपति ने स्वयं अयोध्या में चल रहे राम रसोई की चर्चा स्वयं आचार्य किशोर कुणाल से की। देश की पहली महिला का स्वागत पद्यश्री उपेंद्र महारथी की पुत्री महाश्वेता महारथी ने किया।

(पटना साहिब के गुरु गोविंद सिंह के जन्‍मस्‍थल स्थित हरमंदिर पहुंचे राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द। यहां उन्‍होंने श्रद्धाभाव से मत्‍था टेका। जागरण

(दशमेश गुरु के दरबार में राष्‍ट्रपति एवं उनकी धर्मपत्‍नी को शस्‍त्र दर्शन कराते जत्थेदार ज्ञानी रंजीत सिंह। जागरण)

हावीर मंदिर के आसपास सख्त सुरक्षा घेरा, होटलों की तलाशी

महावीर मंदिर के आसपास सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। बेली रोड से महावीर मंदिर तक मुख्य सड़क से जुड़े संपर्क मार्गों पर बैरिकेडिंग की गई थी। महावीर मंदिर और स्टेशन गेट के आसपास तीन सौ से अधिक जवानों को तैनात किया गया। इसके अलावा 50 से अधिक ट्रैफिक जवानों और पुलिस पदाधिकारियों की तैनाती रही। 

(बुद्ध स्‍मृति पार्क पहुंचा राष्‍ट्रपति का काफिला। जागरण)

बता दें कि एक दिन पूर्व गुरुवार को विधानसभा भवन के शताब्‍दी समारोह का राष्‍ट्रपति ने शुभारंभ किया। इस क्रम में विधानसभा परिसर में बोधि वृक्ष भी लगाया। शाम में विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा के सरकारी आवास पर आयोजित सांस्‍कृतिक कार्यक्रम एवं रात्रि भोज में उन्‍होंने शिरकत की। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत राज्य सरकार के तमाम मंत्री भी मौजूद थे। राष्ट्रपति जैसे ही पहुंचे, शंख बजाकर और बिहार के गौरव गान से उनका स्वागत किया गया। कार्यक्रम के आखिर में बिहार की धुन में प्रमुख वाद्य यंत्रों का वादन किया गया। इसमें मांदर और नगाड़ा जैसे वैसे वाद्य यंत्रों के जरिए बिहार को चित्रित किया गया, जो विलुप्त होते जा रहे हैैं। इन्हें अर्जुन चौधरी ने प्रस्तुत किया। समापन बिहार कोकिला शारदा सिन्हा के गायन से हुआ। 

(शताब्‍दी समारेाह का दीप प्रज्‍वलित कर शुभारंभ करते राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द, साथ में राज्‍यपाल फागू चौहान, सीएम नीतीश कुमार, विधानसभा अध्‍यक्ष विजय कुमार सिन्‍हा व अन्‍य। फोटो-जागरण)

(विधानसभा भवन के शताब्‍दी समारोह के दौरान राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द ने बोधि वृक्ष का पौधा भी लगाया। यह पौधा बोधगया के बोधि वृक्ष की चौथी पीढ़ी का है।)

(विधानसभा अध्‍यक्ष के सरकारी आवास पर आयोजित सांस्‍कृतिक कार्यक्रम में पहुंचे राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द का स्‍वागत करते सीएम नीतीश कुमार। जागरण )

(बुधवार को पटना एयरपोर्ट पर एयरफोर्स के विशेष विमान से पहुंचे राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविन्‍द का स्‍वागत करते राज्‍यपाल फागू चौहान एवं मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार। जागरण)

Edited By: Vyas Chandra