पटना। किसानों के लिए खुशखबरी है। अब उनके खेतों में सीधे बिजली जाएगी। सिंचाई करना आसान हो जाएगा। बिहार के पहले कृषि फीडर का शुभारंभ राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद गुरुवार को बापू सभागार से करेंगे। किसानों के खेत तक बिजली पहुंचने की योजना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल है।

मॉडल के रूप में पटना जिले के नौबतपुर प्रखंड में राज्य के पहले कृषि फीडर से बिजली आपूर्ति होने लगेगी। 50 किसान बिजली कनेक्शन ले चुके हैं। 30 किसानों को कनेक्शन देने की प्रक्रिया चल रही है। करीब 80 किसान कनेक्शन ले रहे हैं। नौबतपुर प्रखंड में दो कृषि फीडर तैयार हैं। नौबतपुर ओल्ड पावर सब स्टेशन से अजमा फीडर तथा नौबतपुर न्यू फीडर से बारा फीडर निकला है। ओल्ड पीएसएस की क्षमता 15 एमवीए की है। यहां 10 एमवीए और पांच एमवीए का एक-एक पावर ट्रांसफॉर्मर लगा हुआ है। जबकि न्यू नौबतपुर में पांच-पांच एमवीए के दो पावर ट्रांसफॉर्मर लगे है। इनकी क्षमता दस एमवीए की है। नौबतपुर मॉडल ही राज्यभर में लागू होगा। प्रयोग के तौर पर इसे तैयार किया गया है। इसमें उत्पन्न समस्या का अध्ययन कर अन्य फीडरों में निदान किया जाएगा।

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत पटना जिले में 17 नए पावर सब स्टेशनों का निर्माण होगा। सभी पावर सब स्टेशन से दो-दो कृषि फीडर निकलेंगे। इसके साथ ही कई पुराने पीएसएस की क्षमता में वृद्धि कर कृषि फीडर निकालने की योजना बनी है। राज्यभर में कृषि फीडर का निर्माण होना है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस