पटना [जेएनएन]। बिहार में भारी बारिश के बाद अस्‍त-व्‍यस्‍त जन-जीवन के बीच सियासत गरमाती दिख रही है। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने इस प्राकृतिक आपदा की घड़ी में संयम व साहस बना रखने की अपील की है। सत्‍ता पक्ष इसे प्राकृतिक आपदा बता रहा है तो विपक्ष का आरोप है कि अलर्ट के बावजूद सिस्‍टम की लापरवाही के कारण स्थिति बिगड़ी है। उधर, राज्‍य सरकार में सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक अरुण कुमार (Arun Kumar) ने प्रशासन से असहयोग का आरोप लगा दिया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने प्रभावित लोगों की मदद की अपील कांग्रेस कार्यकर्ताओं से की है।

हर संभव मदद की कोशिश कर रही सरकार: रविशंकर प्रसाद

जल-जमाव से बुरी तरह प्रभावित पटना की स्थिति को देखने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) सोमवार को पहुंचे। उन्होंने बताया कि लोगों की मदद की हर संभव कोशिश की जा रही है। फरक्‍का बराज (Farakka Barage) के सभी गेट खोल दिए गए हैं, ताकि पटना में गंगा (Ganges) का जल-स्‍तर कम हो सके। जल-जमाव प्रभावित इलाकों से पानी निकालने के लिए बड़े पंप भी चाहिए। कोल इंडिया (Coal India) की ओर से बड़े पंप की व्यवस्था की जा रही है। छत्‍तीसगढ़ से दो बड़े पंप हवाई रास्‍ते से मंगाए जा रहे हैं। हेलीकॉप्टर भी मंगाए गए हैं।

रविशंकर प्रसाद ने पीड़ा के समय में धीरज रखने की अपील की तथा बताया कि पानी निकालने की कोशिश की जा रही है। इसके पहले उन्‍होंने पटना में ड्रेनेज सिस्‍टम का जायजा लिया तथा अधिकारियों को निर्देश दिए।

स्थिति के लिए हथिया नक्षत्र जिम्मेदार: अश्विनी

केंद्रीय मंत्री व बीजेपी नेता अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) ने बिहार में भारी बारिश के लिए हथिया नक्षत्र को जिम्मेदार ठहराया। उन्‍होंने कहा कि हथिया नक्षत्र की बारिश गंभीर होती है। इसने प्राकृतिक आपदा का रूप ले लिया है। सरकार इससे निपटने के लिए तैयार है।

जिला प्रशासन नहीं कर रहा सहयोग: अरुण सिन्‍हा

सत्‍ताधारी दलों के नेताओं में पटना के कुम्हरार इलाके के बीजेपी विधायक अरुण सिन्हा ने कुछ अलग ही बात कही। उनके अनुसार पटना में प्रशासन से पर्याप्त सहयोग नहीं मिल रहा है। इसलिए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को यहां आना पड़ा।

पटना में प्राकृतिक नहीं लापरवाही की है आपदा : तेजस्वी

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार है। अब नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और सुशील मोदी (Sushil Modi) को जल-जमाव के लिए मुगलों, जवाहर लाल नेहरू, लालू यादव, मौसम, प्रकृति और नक्षत्र को दोषी ठहराना चाहिए।

तेजस्‍वी ने कहा कि पटना के मेयर से लेकर सभी पांच विधायक, पांच सांसद (दो लोकसभा और तीन राज्यसभा) बीजेपी के हैं। राज्य में 15 सालों से एनडीए की सरकार चल रही है, लेकिन जब पानी में पटना डूब रहा है तो ये लोग एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। प्रशासन की ओट में खुद का बचाव कर रहे हैं कि सहयोग नहीं मिलने के कारण ऐसी स्थिति आई है।

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि बिहार में आपदा प्राकृतिक नहीं है। बल्कि, सरकार की लापरवाही से ऐसा हुआ है। तेजस्वी की यह प्रतिक्रिया भाजपा विधायक अरुण सिन्हा के उस बयान के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि हम हालात पर लगातार नजर बनाए हुए हैं। किंतु प्रशासन से पर्याप्त सहयोग नहीं मिल रहा है। इसलिए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को पटना आना पड़ा है।

राहुल ने कार्यकर्ताओं से की मदद की अपील

उधर, कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बिहार में बारिश व बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद की अपील कांग्रेस कार्यकर्ताओं से की है। राहुल ने अपने ट्वीट में हालात के बेकाबू होने का जिक्र करते हुए लोगों की मौत पर संवेदना व्यक्त की है। साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे प्रभावित लोगों के राहत और बचाव में जुट जाएं।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप