पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार में चुनाव करीब है। लोगों तक पहुंचने में कोरोना प्रोटोकॉल की बाधा है। कोरोना काल की इस बाधा को राजनीतिक दलों ने इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी (आइटी) के जरिए खत्म करना शुरू कर दिया है। राज्य के प्राय: सभी दलों ने आइटी का सहारा लेकर खुद को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सक्रिय कर लिया है। कोरोना संक्रमण से जुड़ी बातें भी हो रही हैं और लोगों से जुडऩे का काम भी गति में है। जदयू ने इसे कुछ अधिक विस्तार दे दिया है। भाजपा ने संवाद को ले जूम एप का सहारा लिया है तो राजद ने वाट्सएप ग्रुप बनाकर खुद को सक्रिय किया है। 

सर्वप्रथम मुख्यमंत्री ने अपने दल के लोगों से शुरू की बात

कोरोना काल में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सबसे पहले आइटी का इस्तेमाल अपने पार्टी के लोगों से बातचीत में किया। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उन्होंने अपने सभी जिलाध्यक्षों व प्रखंड अध्यक्षों से बात की। इसमें बूथ अध्यक्ष तक शामिल हुए। क्वारंटाइन केंद्रों की मॉनीटरिंग करते रहने की बात हुई। गांव में किस तरह से अलर्ट रहना है और फिर जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है, उन्हें कैसे राशन कार्ड के लिए हो रहे सर्वे में शामिल कराया जाना है, इस पर हिदायतें दी गयीं।

विधायकों व जिलाध्यक्षों को अब किया गया है सक्रिय

जदयू ने अब अपने विधायकों और जिलाध्यक्षों को लोगों से संपर्क साधने के अभियान में सक्रिय किया है। इसके लिए फेसबुक का इस्तेमाल किया जा रहा है। फेसबुक लाइव के जरिए रविवार को वृहत स्तर पर यह कार्यक्रम चलाया गया। इस पूरे अभियान में राजनीतिक बातें न होकर कोरोना को ले सरकार द्वारा किए जा रहे काम पर ही विशेष रूप से चर्चा हुई। चर्चा है कि हर हफ्ते यह कार्यक्रम चलेगा। 

कांग्रेस भी कर रही है मंथन 

बिहार में इस वर्ष होने वाले चुनाव को लेकर कांग्रेस अपने कील-कांटे दुरुस्त करने में जुट गई है। पार्टी ने हालात के अनुसार कोरोना काल में ऑनलाइन कैसे चुनाव प्रसार हो इसे लेकर बकायदा एक गाइडलाइन तैयार की है। पार्टी सूत्रों ने बताया इस गाइडलाइन में इस रणनीति पर चर्चा है कि मुख्यालय से लेकर प्रखंड तक पार्टी किन-किन मुद्दों पर सोशल मीडिया पर जाकर सरकार की घेराबंदी कर सकती है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा कहते हैं कि अब तक यह तय नहीं कि विधानसभा चुनाव किस पद्धति से होंगे। बावजूद पार्टी तमाम पहलू पर मंथन कर रही है। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस