पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार पुलिस कर्मियों को 50 लाख रुपये का कोरोना जीवन बीमा मिल सकता है। पुलिस मुख्यालय ने सोमवार को गृह और आपदा प्रबंधन विभाग को प्रस्ताव भेजने पर सहमति जताई है। जान पर खेलकर पुलिस वाले कोरोना के इस संक्रमण काल में लोगों की सेवा कर रहे हैं। लॉकडाउन के पालन करने के लिए लोगों को जागरूक कर रहे हैं और जरूरत पड़ने पर डंडे भी चला रहे हैं। पिछले दिनों डीजीपी ने कोरोना वीरता अवार्ड से भी नवाजे जाने की घोषणा बिहार के डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने की थी।  

जानकारी के अनुसार, बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने दो अप्रैल को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे को पत्र लिखा था। इसमें कोरोना वायरस से निबटने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों के साथ-साथ कदम से कदम मिलाकर चल रहे पुलिसकर्मियों को भी सिक्योरिटी कवर के रूप में 50 लाख रुपये का जीवन बीमा कवर देने की मांग की थी। इसके बाद सिपाही से हवलदार रैंक तक के पुलिस कर्मियों की संगठन बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन ने 30 मार्च को यह मांग की थी।

मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेंद्र कुमार धीरज ने भी डीजीपी को पत्र लिखा था। एसोसिएशन के पत्र से सहमत होकर डीजीपी ने भी सहानुभूति पूर्वक विचार करने का भरोसा दिया था। हालांकि, इस पर अंतिम निर्णय सरकार को करना है। बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने बताया कि आइजी पुलिस मुख्यालय नैय्यर हसनैन खान ने सोमवार को गृह व आपदा प्रबंधन विभाग को प्रस्ताव भेजने का भरोसा दिया है। मृत्युंजय ने झारखंड पुलिस मुख्यालय द्वारा सरकार को भेजे गए प्रस्ताव की प्रति भी उपलब्ध करा दी है। 

गौरतलब है कि पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ है। बिहार में इससे दो दिन पहले ही लॉकडाउन लागू हो गया था। 21 दिनों के लिए लगाए गए लॉकडाउन की मियाद 21 अप्रैल को पूरी हो रही है। हालांकि शनिवार को पीएम नरेंद्र माेदी ने संकेत दिए हैं कि लॉकडाउन की अवधि दो हफ्ते के लिए बढ़ाई जा सकती है। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस