पूर्वी चंपारण [जेएनएन]। गुप्त सूचना के आधार पर पूर्वी चंपारण के झखरा गांव में पुलिस की टीम ने एक ट्रक की तलाशी ली तो यह देखकर हैरान रह गई। पुलिस को बताया गया था कि ट्रक में मुर्गी का दाना लदा है लेकिन जब पुलिस की टीम छापेमारी करने पहुंची तो उसपर से शराब के कार्टन उतारे जा रहे थे।

पुलिस ने ट्रक से 500 कार्टन और 18 हज़ार बोतल विदेशी शराब बरामद किया है, जिसकी कीमत सवा सौ करोड़ रुपये बताई जा रही है। शराबबंदी कानून लागू होने के बाद पूर्वी चंपारण में यह पुलिस की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस की टीम ने मौके से दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

लेकिन जानकारी के मुताबिक शराब कारोबारियों का मुख्य सरगना पुलिस की टीम को देखते ही फरार हो गया था। पुलिस जब झखरा गांव पहुंची तो सुनील सिंह उर्फ़ पप्पू सिंह के दरवाजे पर एक बड़े ट्रक से विदेशी शराब अनलोड किया जा रहा था। 

पुलिस ने जब छापेमारी की तो मुख्य सरगना अपने कुछ साथियों के साथ भागने में सफल रहा जबकि शराब का कार्टन ट्रक से उतार रहे दो मजदूरों को पुलिस ने खदेड़ कर पकड़ लिया। इस दौरान एक दारोगा जख्मी हो गया। 

पुलिस के मुताबिक जब्त शराब हरियाणा निर्मित है जिसे तस्कर जिले में खपाने के लिए लाए थे। जब्त शराब के अलावा पुलिस ने जब कारोबारी के घर की तलाशी ली तो पहले से घर में जमीन के अन्दर रखे गए शराब के बोतल भी बरामद हुए। जब्त शराब की कीमत लगभग एक करोड़ 25 लाख रुपये की  बताई जा रही है। पुलिस फरार कारोबारियों के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

 

Posted By: Kajal Kumari