ऑनलाइन डेस्क, पटना। बिहार में कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। हालात पर काबू पाने के लिए राज्य सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया है। 15 मई तक बंदिशें लागू कर दी गई हैं। बिहार में आज से 18 साल से 44 की उम्र वालों का वैक्सीनेशन शुरू हो गया है। बिहार में कोरोना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी चिंता जताई है। रविवार को पीएम ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से बात की है। मोदी ने राज्य को हर संभव मदद का भरोसा दिया है। 

पीएम नरेंद्र मोदी ने पंजाब, कर्नाटक, बिहार और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों से कोरोना की स्थिति जानी है। इस दौरान उन्होंने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से भी राज्य में संक्रमण के हालात का जायजा लिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नरेंद्र मोदी ने नीतीश को कोरोना संक्रमण काल में केंद्र से हर संभव मदद का भरोसा दिया है। साथ ही कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सख्ती से पेश आने के लिए कहा। मोदी ने राज्य में हो रही वैक्सीनेशन के विषय में भी नीतीश से जानकारी ली है। इस दौरान नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री को बिहार की स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी दी। 

एक लाख से अधिक हो गए एक्टिव मामले

गौरतलब है कि राज्य में लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला थम नहीं रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार को जारी रिपोर्ट में 12948 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 24 घंटे में 76 लोगों ने संक्रमण की चपेट में आकर अपनी जान गंवा दी है। अब राज्य में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 1.12 लाख हो गई है। राहत के बीत यह है कि स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा भी बढ़ा है। 24 घंटे में करीब 15 हजार लोगों ने कोरोना को हराया है। वहीं रविवार से 18 साल की उम्र से ऊपर के लोगों को वैक्सीन दी जा रही है।