पटना [जेएनएन]। बिहार में एक्‍यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रॉम (एईएस) या चमकी बुखार से बच्चों की हो रही मौतों पर पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी बात कही है। पीएम मोदी ने बुधवार को राज्यसभा में अपने अभिभाषण के दौरान कहा कि चमकी बुखार या एईएस के कारण बिहार में हुईं मौतें दुर्भाग्यपूर्ण हैं और यह हमारे लिए शर्म की बात है।
पीएम मोदी ने कहा कि पिछले सात दशकों में हमारी विफलताओं में से ये भी एक बड़ी विफलता है। हमें इसे गंभीरता से लेना होगा। मैं राज्य सरकार के लगातार संपर्क में हूं और मुझे यकीन है कि हम सामूहिक रूप से जल्द ही इस संकट से बाहर आ जाएंगे।
पीएम मोदी ने कहा कि इस बीमारी से निजात पाने के लिए हरसंभव कोशिश की जा रही है और आने वाले समय में हम जल्द ही इस संकट से निजात पा जाएंगे। इसके लिए टीकाकरण करना हो या कुपोषण पर लगाम लगाना हो, सबकुछ किया जाएगा। हमें मिलकर इसपर ध्यान देना है। हमने इस बीमारी का पता चलते ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को मुजफ्फरपुर भेजा था। उन्होंने कहा कि अगर अभी भी इसपर ध्यान नहीं दिया गया तो ये बीमारी अन्य राज्यों में भी फैल सकती है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप