पटना, राज्य ब्यूरो। PM Modi Virtual Rally: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार 21 सि‍तंबर को सड़क और पुल से जुड़ी बहुप्रतीक्षित सात योजनाओं का वर्चुअल रैली के दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शिलान्यास किया।  इन योजनाओं की कुल लागत 14 हजार, 287.85 करोड़ रुपए है। दिन के 12 बजे शिलान्यास कार्यक्रम हुआ। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी व पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव भी कार्यक्रम में मौजूद रहे। जिन परियोजनाओं का शिलान्यास हो रहा, उनके शिलान्यास स्थल पर संबंधित जिले के डीएम व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।  इन योेजनाओं में पटना के गांधी सेतु के समानांतर व भागलपुर के विक्रमशिला सेतु के समानांतर बनने वाला फोरलेन पुल भी शामिल है। इसके अतिरिक्त बख्तियारपुर-रजौली और आरा-मोहनिया सड़क को चार लेन में विकसित करने की योजना भी सूची में है।

पटना रिंग रोड के सेक्‍शन का शिलान्‍यास

प्रधानमंत्री ने बख्तियारपुर-रजौली फोर लेन सड़क के दो पैकेज की योजनाओं का शिलान्यास किया। इनमें पैकेज-2 की लागत 1149.55 करोड़ है और इसके तहत 47.23 किमी सड़क का निर्माण होना है। इसी तरह पैकेज-3 में 50. 89 किमी सड़क बनेगी और इसकी लागत 2650.76 करोड़ रुपए है। आरा-मोहनिया सड़क की फोरलेनिंग भी दो पैकेज के तहत होनी है। पहला पैकेज 54.53 किमी का है और इसकी लागत 885.41 करोड़ रुपए है। दूसरा पैकेज 60.80 किमी का है और इसकी लागत 855.93 करोड़ रुपए है।  नरेनपुर-पूर्णिया खंड की फोरलेनिंग के तहत 49 किमी सड़क को लिया गया है। इसकी लागत 2288.00 करोड़ रुपए है। पटना के लिए बड़ी योजना पटना रिंग रोड के रामनगर-कन्हौली सेक्शन का भी प्रधानमंत्री ने शिलान्यास किया। यह 39 किमी है और इसकी लागत 913.15 करोड़ रुपए है।

तीन महत्‍वपूर्ण पुलों का शिलान्‍यास

गांधी सेतु के समानांतर बनने वाले पुल की लागत 2926.42 करोड़ रुपये, कोसी पर बनने वाले फुलौत पुल की लागत 1478.40 करोड़ रुपये तथा भागलपुर के विक्रमशिला पुल के समानांतर बनने वाले फोरलेन पुल की लागत 1110.23 करोड़ रुपये है। पथ निर्माण मंत्री ने बताया कि पटना-गया-डोभी सड़क का कार्य फिर से आरंभ होगा। मुंगेर से मिर्जा चौकी तक नए सिरे से बनने वाली सड़क की निविदा भी हो गई है। यह चार पैकेज में बनेगा। इसकी लागत 3400 करोड़ रुपये है।

46 हजार गांव जुड़ेंगे फाइबर ऑप्टिकल नेटवर्क से

इस वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के 45 हजार 945 गांवों को फाइबर आप्टिकल नेटवर्क से जोडऩे की घोषणा की। 2021 के मार्च तक यह सुविधा उक्त सभी गांवों में उपलब्ध करा दी जाएगी। इसके पहले केंद्र सरकार बिहार की सभी 85 सौ पंचायतों को इंटरनेट सेवा से जोड़ चुकी है। कार्यक्रम में राज्यपाल फागू चौहान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं सुशील मोदी मौजूद रहे।

 इन सड़कों को फोरलेन में तब्दील किए जाने की योजना का शिलान्यास

1. बख्तियारपुर-रजौली

2. आरा-मोहनिया

3.नरेनपुर-पूर्णिया

4. पटना रिंग रोड का रामनगर -कन्हौली सेक्शन

इन पुलों की निर्माण योजना का भी शिलान्यास

1. गांधी सेतु के समानांतर फोरलेन पुल

2. कोसी नदी पर फुलौत मेंं नया फोरलेन पुल

3. भागलपुर के विक्रमशिला सेतु के समानांतर नया फोरलेन पुल

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस