पटना। पटना नगर निगम के वार्ड पांच के अधिकांश इलाकों में पाइपलाइन बिछाई जा चुकी है। लेकिन जलापूर्ति अभी शुरू नहीं हो सकी है। ऐसे में लोगों के हलक सूखे हैं। उन्हें जलापूर्ति का इंतजार है।

समनपुरा सहित कई मोहल्ले में जलापूर्ति मुख्य समस्या है। मापतौल विभाग जलापूर्ति केंद्र पांच दिनों से बंद पड़ा है। यहां पानी के साथ बालू आता है। एजी कालोनी लालू खटाल के पास एक वर्ष पहले उच्च क्षमता का जलापूर्ति केंद्र स्थापित करने के लिए निविदा प्रक्रिया पूरी की गयी थी। लेकिन अभी तक यहां निर्माण शुरू नहीं हो सका है। --- भूमिगत केबल यूटिलिटी ट्रेंच के निर्माण से बढ़ी परेशानियां--- पटना नगर निगम वार्ड संख्या पांच में 132 केवी संरचरण लाइन का भूमिगत केबल यूटिलिटी ट्रेंच बनाया जा रहा है। यह दीघा-आशियानरोड मुख्य रोड में राजीवनगर नहर से फ्रेंड्स कालोनी, जय प्रकाश नगर, एजी कालोनी होते विद्युत बोर्ड कालोनी होते हुए निकल रहा है। यह कई स्थानों पर खतरनाक हो गयी है। लोग घरों से गाड़ियां निकाल नहीं पा रहे हैं। पथ निर्माण विभाग यह काम कर रहा है। ट्रांसमिशन कंपनी ने संचरण लाइन बिछा दी है, मौसम में सुधार के बाद इसे ज्वाइंट किया जाएगा। --- नाले का स्तर नीचे रहने से जल निकासी बनी समस्या --- श्रीनगर रोड संख्या आठ से चार तक भूमिगत नाला भी बन गया है। नाले का स्तर नीचे रहने के कारण जलनिकासी यहां बड़ी समस्या बन गई है। एजी कालोनी पार्क के आसपास दो वार्ड की सीमा रहने के कारण स्थिति बदहाल है। वहीं एजी कालोनी पार्क का सौंदर्यीकरण हो रहा है। यहां सिर्फ एक पार्क है। --- मोहल्ले --- बेलीरोड के उत्तर शेखपुरा मोड़ से आशियाना नगर मोड़, आशियानानगर मोड़ से दीघा आशियाना रोड में राजीव नगर नहर तक, नहर पर एजी कालोनी रोड के मोहल्ले समनपुरा, एजी कालोनी, फ्रेंड्स कालोनी, श्रीनगर कालोनी, सकुर कालोनी, इंदिरापुरी, बैंक आफ इंडिया कालोनी, नीलकंठ कालोनी, शेरशाह कालोनी, मछलीगली, शिव कालोनी, सकेतपुरी, चाणक्यापुरी, ब्रह्मस्थली गली, दुर्गा आश्रम, कृषि नगर, बैंक आफ बड़ौदा कालोनी, जयप्रकाश नगर, शेकर कालोनी आदि हैं। नागरिक बोले - दो साल पहले जलापूर्ति पाइप लाइन बिछी। आज तक पानी नहीं आ पाया। इलाके में पेयजल मुख्य समस्या है। सफाई व्यवस्था बेहतर है। हमलोगों को पानी चाहिए। शाकिर हुसैन, मदरसा गली, समनपुरा - बिजली कंपनी भूमिगत संचरण लाइन बिछा रही है। छह माह से मेरी गाड़ी बाहर में है। दीघा -आशियान रोड, फ्रेंड्स कालोनी, जयप्रकाश नगर सहित कई मोहल्ले प्रभावित है। धूल ने जीना मुहाल कर दिया है। जल्द से जल्द निर्माण कार्य पूर्ण किया जाए। डा. प्रेम शंकर, एजी कालोनी - दो साल पहले विधायक फंड से नाला बना। लेबल नीचे होने के कारण पानी का निकास नहीं हो पा रहा है। पीसीसी सड़क का निर्माण होना था, आज तक नहीं हुआ। बारिश में जलनिकासी समस्या बन जाती है। शंकर सिंह, श्रीनगर कालोनी - मूलभूत सुविधाओं में बड़े पैमाने पर बदलाव आया है। सड़क निर्माण अधूरा रह जाने के कारण हमलोगों के मकान के पास जलजमाव हो जाता है। कचरा उठाने की व्यवस्था बेहतर हुई है। तेन नारायण सिंह, बैक आफ इंडिया कालोनी - जयप्रकाश नगर में जलनिकासी समस्या बन गई है। अधूरे नाले का निर्माण कराया जाए। बारिश होते ही श्रीनगर और जयप्रकाश नगर के कुछ भाग जलमग्न हो जाएगा। अनिल कुमार सिंह, जयप्रकाश नगर ---------------------------- सफाई मेरी मुख्य प्राथमिकता सफाई व्यवस्था मेरी मुख्य प्राथमिकता है। जल जमाव नहीं होगा। 110 गली-नाली बनवाई है। हर गली में स्ट्रीट लाइट लगी है। ब्रह्मस्थली गली में एक उच्च क्षमता का पंप स्थापित कराया है। मेंहदी नगर में भूमिगत नाली के साथ पीसीसी सड़क भी बनेगी। मिट्टी भरके ऊंचा कर दिया गया है। श्रीनगर से वैकल्पिक व्यवस्था के तहत जलनिकासी की व्यवस्था कराई जा रही है। नमामि गंगे परियोजना के तहत सड़कों की खोदाई का बुरा प्रभाव वार्ड पर पड़ा है। निगम मुख्यालय का ध्यान इसकी तरफ दिलाया गया है। दीपा रानी खान, निर्वतमान सशक्त स्थायी समिति की सदस्य, वार्ड पांच, पटना नगर निगम

Edited By: Jagran