पटना, जेएनएन। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने आखिरी चरण के चुनाव से पहले पूरी ताकत झोंक दी है। रविवार को तेजस्वी यादव ने बिहार के भोजपुर, नालंदा, आरा और पाटलिपुत्र में चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान आरा में उनके साथ पहली बार एक मंच पर बड़े भाई तेजप्रताप यादव भी दिखे।

पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने आरा में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि गरीबों के नेता लालू प्रसाद यादव शेर हैं। उन्होंने हमेशा फिरकापस्त ताकतों की कमर तोडऩे का काम किया। इस वजह से भाजपाई उन्हें साजिश के तहत जेल में डाल रहे हैं, लेकिन हम ये होने नहीं देंगे। यह चुनाव देश की दशा और दिशा बदलने वाला है।

पूर्व मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार गरीबों और पिछड़ों को सरकारी नौकरी से बाहर रखना चाहती है, इसलिए अगर मोदी सरकार सत्ता में आई तो सारी नौकरियां चली जाएंगी। ये लोग आरक्षण विरोधी हैं। उन्होंने कहा कि जब भाजपा ने डीएनए की गाली दी थी, तब पलटू चाचा ने ही कहा था कि यह हमको नहीं पूरे बिहार को गाली है। तो फिर आप आज उनके साथ कैसे हो गए। यह तो बिहार के साथ अपमान है।

मोदी व नीतीश सरकार आरक्षण व संविधान विरोधी

राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने रविवार को बिहारशरीफ के एकंगरसराय हाईस्कूल में महागठबंधन के हम प्रत्याशी अशोक कुमार आजाद के सर्मथन में जनसभा को संबोधित किया। मोदी व नीतीश सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि दोनों सरकारें संविधान व आरक्षण विरोधी हैं। उन्होंने कहा कि पूरे बिहार एवं देश की जनता नरेंद्र मोदी की जुमलेबाजी को समझ चुकी है। इसलिए इस बार किसी भी कीमत पर मोदी लौटने वाले नही हैं। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने कहा कि देश व राज्य की जनता एनडीए को भगाकर ही दम लेगी। उन्होंने नालंदा में महागठबंधन के प्रत्याशी अशोक कुमार आजाद को विजयी बनाने की अपील करते हुए अपने अंदाज में कहा कि बीजेपी को यहां की जनता सबक सिखा कर रहेगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Akshay Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप