पटना । भोजपुर और पटना पुलिस की नाक में दम करके रखने वाला रंजीत चौधरी गिरोह के सहायक सरगना पवन चौधरी के पकड़े जाने की सूचना है। उत्तर प्रदेश के बरेली शहर के बाजार से उसकी गिरफ्तारी की बात कही जा रही है। हालांकि दोनों जिलों की पुलिस ने पवन की गिरफ्तारी से इन्कार किया है। सूत्र बताते हैं कि पटना पुलिस की टीम ने उसे पकड़ा है। इसकी भनक यूपी पुलिस को भी नहीं लगी है। पवन को पटना लाया जा रहा है, ताकि गिरोह के सदस्य उसे छुड़ा न लें।

बताते चलें कि बिहटा, नौबतपुर सहित राजधानी के पश्चिमी इलाके और भोजपुर में संगीन वारदातें करने वाले रंजीत चौधरी को औरंगाबाद जिले से गिरफ्तार किया गया था। वह एक स्थानीय नेता के घर पर छिपा था। गिरफ्तारी के बाद पवन चौधरी ने गिरोह की कमान संभाल ली थी। गिरोह के लिए हथियार का बंदोबस्त पवन के जिम्मे में ही था। बताया जाता है कि रंजीत गिरोह के पास दर्जनभर एके-47 और एके-56 हैं। कई कांडों में रंजीत गिरोह की संलिप्तता उजागर होने के बाद पटना पुलिस की सिफारिश पर उसका स्थानांतरण बेउर जेल से भागलपुर जेल में कर दिया गया था। तब पुलिस को पवन की सक्रियता के बारे में पता चला। पुलिस पवन, अभिषेक सहित अन्य बदमाशों की तलाश में थी। हाल में भोजपुर में पटना पुलिस की टीम ने उसे घेरने की कोशिश की थी, लेकिन वह फायरिंग कर फरार हो गया था। सूत्रों की मानें तो पवन इन दिनों बरेली शहर में रह रहा था। उसके तार अंडरव‌र्ल्ड से जुड़े होने की भी बात सामने आई है।

तीन जगह

हरिओम कांप्लेक्स के तीसरे तल पर इलेक्ट्रिक पैनल एक्जीबिशन रोड, किचन में खाना खाने के क्रम हॉट-पॉट रेस्टोरेंट आशियाना दीघा रोड, रविशंकर के घर के सामने ट्रांसफॉर्मर

विशाल दरियापुर गोला रोड,

By Jagran