पटना, जेएनएन। राजधानी में बुधवार को अपराधियों ने दो बड़ी वारदातों को अंजाम दे दिया। अलग-अलग घटनाओं में दो युवकों को 15 गोलियां मारकर मौत के घाट उतार दिया गया। पहली घटना, अहले सुबह पत्रकारनगर थाना क्षेत्र के नब्बे फीट रोड स्थित श्यामा हॉस्पिटल के पास हुई। दूसरी घटना शाम में खाजेकलां इलाके में हुई। मृतकों की पहचान रामकृष्णानगर निवासी प्रवीण कुमार और चौक थाना इलाके रहने वाले राहुल कुमार के रूप में हुई है।

कुछ देर की बात और बरसाने लगे गोलियां

पत्रकारनगर स्थित नब्बे फीट पर सुबह करीब सात बजे स्कूटी सवार युवक पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ आधा दर्जन गोलियां बरसा दीं। हत्या की खबर मिलते ही कंकड़बाग और पत्रकार नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। तब तक युवक का शव सड़क किनारे पड़ा था। स्कूटी भी पास में ही गिरी थी जिसपर पंजाब की नंबर प्लेट लगी थी। पुलिस ने मौके से चार खोखा बरामद किया। शाम करीब पांच बजे के बाद पुलिस ने मृतक की पहचान प्रवीण कुमार (38) के रूप में की जो मूल रूप से नालंदा के रहने वाले थे। वह रामकृष्णा नगर में किराए के कमरे में रहते थे और किसी डॉक्टर के घर ड्राइवर का काम करते थे। थानेदार मनोज कुमार ने बताया कि अपराधियों की संख्या कितनी थी स्पष्ट नहीं हो सका है। ऐसा कोई प्रत्यक्षदर्शी भी नहीं मिला जो कुछ बता सके। सीसीटीवी कैमरा खंगाला जा रहा है।

घाट पर टोका, रोका और फिर दौड़ाकर मारीं गोलियां

शाम करीब साढ़े चार बजे चौक निवासी राहुल कुमार (26) अपने साथी दीपक के दाह संस्कार में खांजेकला घाट पहुंचा था। इसी बीच वहां दो बाइक पर सवार चार अपराधी पहुंचे। दाह संस्कार में जुटे लोगों से एक अपराधी ने राहुल के बारे में पूछा। फिर चारों बदमाशों ने घाट पर ही राहुल को आवाज दी। जैसे ही राहुल कुछ समझ पाता, बदमाशों ने कमर से पिस्टल निकाल दी। यह देख राहुल भागने लगा। अपराधियों ने उसके पैर में दो गोलियां मार दीं। फिर कमर और पेट में छह गोलियां उतार दीं। फिर करीब जाकर उसके सिर में एक गोली और मारी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। एसएसपी गरिमा मलिक ने बताया कि अपराधियों की पहचान में दोनों थानों की पुलिस जुटी है।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस