पटना, जागरण संवाददाता। कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के बीच पटना के लोगों के लिए राहत भरी खबर है। पटना में अगले हफ्ते तक शहरी आबादी के सौ फीसद टीकाकरण की तैयारी चल रही है। यूं तो प्रशासन ने इसके लिए 31 जुलाई तक का ही लक्ष्‍य निर्धारित किया है। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग टीका टीमों की संख्या बढ़ाने के साथ सभी टीकाकरण केंद्रों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि कोई भी व्यक्ति सेंटर से मायूस नहीं लौटे। पहली या दूसरी डोज लेने वालों को जिस वैक्सीन की जरूरत हो उन्हें उसकी डोज जरूर दी जाए। इसके लिए यथासंभव सभी केंद्रों व टीका एक्सप्रेस पर दोनों वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी। अगर प्रशासन की पहल कामयाब रहती है तो अक्‍टूबर के आखिर या नवंबर के शुरुआती हफ्ते तक पटना शहर की 100 फीसद आबादी को कोविड के दोनों टीके लग जाएंगे।

  • 31 तक शहरी आबादी के सौ फीसद टीकाकरण के लिए बढ़ाई जाएंगी टीमें
  • को-वैक्सीन की 75 हजार डोज और मिलीं, आज मिलेगी कोवि-शील्ड
  • केंद्र से कोई मायूस नहीं लौटे, डीएम व सिविल सर्जन ने दिए निर्देश  

सिविल सर्जन डा. विभा कुमारी सिंह ने बताया कि नगर निकायों की मदद से टीका एक्सप्रेस के द्वारा विभिन्न वार्डों में टीकाकरण किया जा रहा है। शहरी क्षेत्र के छह अंचल में कुल 75 टीका टीमें अभी टीकाकरण कर रही हैं। वैक्सीन की उपलब्धता को देखते हुए चार दिनों में जरूरत के अनुसार इनकी संख्या और बढ़ाई जाएगी। बुधवार को 43 नियमित केंद्रों के अलावा शहरी क्षेत्र की सभी 40 टीका एक्सप्रेस टीकाकरण करेंगी। ग्रामीण क्षेत्रों के सभी  प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और अनुमंडलीय अस्पतालों में टीकाकरण किया जाएगा।

जिले में शहरी आबादी के करीब 14 लाख 36 हजार 698 लोगों का टीकाकरण किया जाना है। अब तक 84 फीसद से अधिक लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है। वहीं ग्रामीण क्षेत्र की 29 लाख 12 हजार 433 लोगों में से 26 फीसद का टीकाकरण हो चुका है। जिले में अबतक वैक्सीन की 25 लाख 95 हजार 64 डोज दी गई है। इनमें से 19 लाख 76 हजार 327 को पहली और 6 लाख 18 हजार 737 को दूसरी डोज दी जा चुकी है।