पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Crime: बिहार के सबसे बड़े अस्‍पताल पटना में पीएमसीएच में मरीजों के वार्ड के दरमियान महज कुछ घंटों के अंदर मंगलवार को दो बार ताबड़तोड़ फायरिंग से मरीज और उनके स्‍वजन सहम उठे। इस अस्‍पताल में सामान्‍य रोगियों के साथ ही कोविड मरीजों का भी इलाज हो रहा है। अस्‍पाल परिसर में मंगलवार की दोपहर सीतामढ़ी क्वार्टर और शाम होते ही टाटा वार्ड के बाहर ताबड़तोड़ फायरिंग की घटनाएं हुईं। फायरिंग में गोली लगने से दो युवक और एक युवती गंभीर रूप से जख्मी हो गए। इस पूरे वाकये से अस्‍पताल की सुरक्षा व्‍यवस्‍था पर गंभीर सवाल खड़े हो गए हैं।

सबसे पहले सीतामढ़ी क्‍वार्टर के पास चली गोली

बताया जा रहा है कि सबसे पहले सीतामढ़ी क्वार्टर में झोपड़ी के बाहर 19 वर्षीय शोएब अख्तर की कनपटी में गोली मारी गई। पुलिस शोएब को पीएमसीएच में भर्ती कराने के बाद जांच में जुटी ही थी कि शाम में टाटा वार्ड के पास एंबुलेंस में बैठे 26 वर्षीय चालक आयुष राज को दौड़ाकर गोली मार दी गई। वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया। आयुष भंवर पोखर का रहने वाला है।

मरीज के साथ आई रिश्‍तेदार को भी लगी गोली

वहीं फायरिंग के दौरान ही टाटा वार्ड के बाहर रिश्तेदार का उपचार कराने पहुंची ज्योति नाम की लड़की को भी गोली लग गई। ज्योति मंदिरी की निवासी है। युवती को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फायरिंग से टाटा वार्ड के बाहर भगदड़ मच गई।

छह से आठ राउंड फायरिंग होने की बात

घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा, सिटी एसपी, टाउन डीएसपी, पीरबहोर, सुल्तानगंज, गांधी मैदान सहित अन्य थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पीएमसीएच परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। दोनों वारदातों में छह से आठ राउंड फायरिंग हुई। जख्मी एंबुलेंस चालक की स्थिति गंभीर है। उसे तीन गोलियां लगी हैं। वहीं जख्मी लड़की को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दोनों घटनाओं के कनेक्‍शन जोड़ने में जुटी पुलिस

पुलिस की मानें तो शुरुआती जांच में पुरानी रंजिश और वर्चस्व को लेकर फायरिंग की बात सामने आई। दोनों जख्मी युवक आरोपितों को पहचान रहे हैं। पुलिस उनकी तलाश में दबिश दे रही है। इस बिंदु पर भी जांच कर रही है कि कहीं शोएब को गोली लगने की घटना का बदला लेने की नीयत से तो आयुष को गोली नहीं मारी गई।

अलाउद्दीन की हत्‍या से जुड़ रहा है कनेक्‍शन

बताया जा रहा है कि कुछ माह पूर्व गुलबी घाट पर अलाउद्दीन उर्फ बिकाऊ की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। शोएब उसी अलाउद्दीन का भाई है। जबकि आयुष ने अलाउद्दीन के दो रिश्तेदारों पर गोली मारने का आरोप लगाया है। पुलिस अलाउद्दीन की हत्या का कनेक्शन खंगालने में जुट गई है।