पटना [अरुण सिंह]। Pro Kabaddi 2019: प्रो कबड्डी लीग में खिताबों की हैट्रिक जमा चुकी पटना की टीम सीजन-7 में अपने ही घर में हैट्रिक हार की शिकार हो गई है। इसके लिए घर में पटना पाइरेट्स के खिलाडि़यों की किरकिरी हो रही है। इस किरकिरी से बचने का अब टीम के पास पटना चरण में अंतिम मौका है। पटना चरण में पाइरेट्स का आखिरी मुकाबला शुक्रवार को यूपी योद्धा से होगा। प्रदीप नरवाल एंड कंपनी यूपी को हर हाल में हराना चाहेगी। ऐसा कर पटना की टीम घर में क्लीन स्वीप होने से बचेगी। साथ ही प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें भी जिंदा रहेंगी। 

प्रदीप को सहयोग की जरूरत
पटना पाइरेट्स के कप्तान प्रदीप नरवाल पिछले मैच में 900 रेड अंक बनाने वाले पीकेएल के पहले खिलाड़ी बने हैं। उन्होंने शानदार प्रदर्शन भी किया, लेकिन जैन कुन ली समेत अन्य रेडरों का सहयोग उन्हें नहीं मिला। यूपी के मजबूत डिफेंस के सामने प्रदीप को साथियों की जरूरत पड़ेगी। राइट काॅर्नर से यूपी के कप्तान नितेश कुमार (पांच मैचों में 13 टैकल) और राइट कवर से आशु सिंह ने इतने ही मैचों में आठ अंक लिये हैं। प्रदीप और पटना के अन्य रेडरों को दोनों से बचना होगा। दोनों प्रदीप और जैन कुन ली को ब्लॉक कर सकते हैं।


मोनू और रिषांक की कमजोरी का उठाना होगा फायदा
इस सीजन घर में पहली जीत का स्वाद चखने के लिए पटना के पास बेहतरीन अवसर है। यूपी के स्टार रेडर मोनू गोयत (5 मैच में 8 अंक), रिषांक देवाडिगा (4 मैच 7 अंक) फॉर्म में नहीं हैं। इन दोनों के आउटऑफ फॉर्म का फायदा उठाने और कोर्ट से बाहर रखने की जिम्मेवारी जयदीप, नीरज जैसे डिफेंडरों पर होगी। अगर वे इसमें कामयाब रहे तो पटना की टीम जीत के साथ घर से विदा ले सकती है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस