पटना, जेएनएन।  नए साल का डेढ़ महीना बीत गया मगर हत्या-लूट का दौर नहीं बीत रहा। पिछले 46 दिनों में राजधानी में 23 हत्याएं हुई हैं। यानी हर दूसरे दिन एक हत्या। इनमें से अधिसंख्य हत्याएं दिनदहाड़े गोलियां बरसा कर की गईं। इसके बाद लूट का नंबर है। 16 लूट की घटनाओं को अपराधियों ने अंजाम दिया, इसमें भी अधिसंख्य दिनदहाड़े सरेराह अंजाम दी गई है। हालांकि पुलिस ने लूट के 80 फीसद मामलों में आरोपितों की गिरफ्तारी का दावा तो किया लेकिन कैश रिकवरी शून्य रही। 

बदला, रंजिश और अवैध संबंध में गई कई लोगों की जान 

डेढ़ माह में हुई हत्या के अधिकांश मामलों में दोस्त, करीबी और भाई ही आरोपित निकले। पांच हत्याएं प्रेम प्रसंग और अवैध संबंधों में हुईं तो आधा दर्जन से अधिक की जान पुरानी दुश्मनी और भूमि विवाद में चली गई। कहीं पिता की मौत का बदला लिया गया तो कहीं भाई ने ही भाई की हत्या का मास्टरमाइंड निकला। 

इन वारदातों में नहीं हुई गिरफ्तारी 

कई मामलों में पुलिस अपराधियों तक नहीं पहुंच सकी है। बीते साल के अंतिम दिन 31 दिसंबर 2019 को कोतवाली थाना क्षेत्र के स्टेशन गोलंबर के पास दिनदहाड़े यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया में एक अपराधी नौ लाख रुपए लूटकर फरार हो गया। आधा दर्जन थानेदार भी लुटेरों की गिरफ्तारी लगाए गए। गिरफ्तारी तो की बात है, पुलिस पहचान तक नहीं कर सकी है।

13 जनवरी को पत्रकारनगर थाना क्षेत्र के रोड नंबर पांच पर पांच अपराधियों ने दिनदहाड़े सरिया कंपनी के दो कर्मियों को गोली मारकर छह लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। दोनों को पैर और हाथ में गोली लगी थी। पुलिस इस मामले में गिरोह तक की पहचान नहीं कर सकी है। 

इसी तरह बीते 11 फरवरी को एयरपोर्ट थाना क्षेत्र के बीएमपी एरिया में बेटी को स्कूल पहुंचाने जा रहे बाइक सवार चंदन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बाइक पर उनकी पत्नी भी सवार थी। पत्नी और बेटी के सामने गोली मारने वाले अपराधियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

06 फरवरी को राजीव नगर थाना क्षेत्र के मजिस्ट्रेट कॉलोनी स्थित हरिहर अपार्टमेंट में रेलवे इंजीनियर सहित तीन के फ्लैट में 22 लाख की चोरी हो गई। फुटेज में दो चोरों का चेहरा स्पष्ट मिला। पुलिस इस मामले में अभी एक भी गिरफ्तारी नहीं कर सकी है। 

14 थाना क्षेत्रों में सबसे ज्यादा अपराध

04 जनवरी : दीघा में पेट्रोल पंप पर 50 हजार रुपए की लूट। 

05 जनवरी : नौबतपुर में गैस एजेंसी से 2.50 लाख रुपए की लूट। 

05 जनवरी को कदमकुआं में स्टेशनरी कारोबारी से 4.50 लाख की लूट। 

06 जनवरी : पीरबहोर में डेयरी कलेक्शन एजेंट से 2.50 लाख की लूट। 

10 जनवरी : मोकामा में व्यवसायी से दो लाख की लूट। 

13 जनवरी : पत्रकारनगर में सरिया कंपनी के कर्मियों से छह लाख की लूट।

17 जनवरी : अनीसाबाद में कैशियर से दिनदहाड़े 2.37 लाख की लूट।

18 जनवरी : बिहटा में गैस एजेंसी में दिनदहाड़े 1.80 लाख की लूट।

20 जनवरी : रूपसपुर में दवा दुकान में डेढ़ लाख रुपये की लूट।

23 जनवरी : शाहपुर में प्रिंटर और पेंट से लोड पिकअप वैन लूट। 

02 फरवरी: रामकृष्णानगर में दवा दुकान से 20 हजार की लूट।

05 फरवरी  : बाढ़ में पेट्रोल पंप मालिक से 8.75 लाख रुपए लूट। 

08 फरवरी : खगौल में 90 लाख की लूट, मामला फर्जी निकला।

13 फरवरी : बिहटा में शिक्षक दंपती से 10 लाख रुपए की लूट। 

आरोपितों को पकडऩे में हांफने लगी पुलिस 

04 जनवरी: रानी तालाब में आरटीआइ कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या।

11 जनवरी: जीएम रोड में दवा दुकान मालिक की हत्या कर दी गई। 

12 जनवरी: दीदारगंज थाना क्षेत्र में युवक की गोली मारकर हत्या हुई। 

12 जनवरी: रानी तलाब थाना क्षेत्र में गला दबाकर युवक की हत्या। 

14 जनवरी: फतुहा में भूमि विवाद में किसान की गोली मारकर हत्या। 

15 जनवरी: धनरूआ में दोस्त संग पार्टी मनाने गए ठीकेदार की हत्या। 

15 जनवरी: अकिलपुर थाना क्षेत्र में युवक की रॉड से पीटकर हत्या। 

21 जनवरी: दीघा में प्रेम प्रसंग में छात्र की गोली मारकर हत्या। 

24 जनवरी: रामकृष्णानगर थाना क्षेत्र में युवक की गोली मारकर हत्या। 

27 जनवरी: बाढ़ थाना क्षेत्र में युवक की गोली मारकर हत्या।  

29 जनवरी: कंकड़बाग में दिनदहाड़ें प्रोफेसर क गोली मारकर हत्या। 

30 जनवरी: आलमगंज में मिठाई दुकानदार को मारी गोली। 

30 जनवरी: दानापुर निवासी छात्र की गोली मारकर हत्या। 

30 जनवरी: सालिमपुर में दूल्हे की गोली मारकर हत्या। 

30 जनवरी: पुनपुन थाना क्षेत्र में युवक की हत्या। 

06 फरवरी: बख्तियारपुर में पान दुकानदार की हत्या। 

31 जनवरी: गौरीचक में सराफा कारोबारी की हत्या।  

06 फरवरी: आलमगंज थाना क्षेत्र में युवक की हत्या

11 फरवरी एयरपोर्ट थाना क्षेत्र में युवक की हत्या। 

11 फरवरी: गर्दनीबाग थाना क्षेत्र में युवक की हत्या। 

13 फरवरी: दीघा थाना क्षेत्र में में जमीन कारोबारी की हत्या। 

18 फरवरी: पीरबहोर में रिटायर्ड कर्मी की गोली मारकर हत्या।   

एसएसपी ने कहा-

एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मी ने बताया कि सोना लूट मामला भी फर्जी निकला। सरिया कंपनी के कर्मी से लूट और एयरपोर्ट थाना क्षेत्र में हत्या मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। जबकि अन्य करीब सभी मामलों में पुलिस लुटेरों और हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। 

- उपेन्द्र कुमार शर्मा (एसएसपी)

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस