पटना [वेब डेस्क]। ओमान में रहने वाली बिहार की एक लड़की को उड़ी में संभावित आतंकी हमले का अंदेशा 10 दिनों पहले ही हो गया था। उसने अपने स्तर से इसकी जानकारी देश तक पहुंचा भी दी थी। लेकिन, सुरक्षा एजेंसियां लापरवाह बनी रहीं और हादसा हो गया। मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से एक खोजी वेबसाइट से इसकी जानकारी दी है।

मिली जानकारी के अनुसार ओमान में रहने वाली पटना की एक लड़की ने 10 दिनों पहले रामपुर के एक आरटीआइ कार्यकर्ता को व्हाट्सएप के माध्यम से बताया था कि वहां के कुछ लोग कश्मीर में किसी आतंकी वारदात की योजना बना रहे हैं। वे लोग पाक अधिकृत कश्मीर से हैं। कश्मीर में आतंक फैलाने के लिए वे पैसे भी भेज रहे हैं।

खुलासा : ISIS जिहादियों के लिए सीरिया भेजी जा रहीं बिहारी लड़कियां

लड़की ने अपने रामपुर में रहने वाले अपने दोस्त व आरटीआइ एक्टिविस्ट को व्हाट्सएप से इसकी जानकारी दी। उसने इसकी पूरी जानकारी रामपुर के एसएसपी को दे दी। फिलहाल इसकी जांच क्राइम ब्रांच और ATS कर रही।

अमिताभ की आवाज में कहा, मैं 'कौन बनेगा करोड़पति' से ...और ठग लिए 80 हजार

इस जानकारी के 10 दिनों बाद कश्मीर के उड़ी में सेना के कैंप पर आतंकी हमला हो गया। इस घटना के तार ओमान से मिली जानकारी से जुड़े हैं या नहीं, यह फिलहाल नहीं कहा जा सकता। लेकिन, मिली जानकारी पर हमारी सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई होतीं तो शायद हादसे को टाला जा सकता था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस