पटना, राज्य ब्यूरो। बिहार सरकार की तमाम कोशिशों और दावों के बावजूद शराबबंदी को लेकर सवाल लगातार खड़े हो रहे हैं। उत्‍पाद विभाग ने रविवार की रात पटना शहर के बीचोबीच शराब की अब तक की सबसे बड़ी खेप पकड़कर यह साबित कर दिया कि राज्‍य में शराब का अवैध धंधा  खत्‍म करना आसान नहीं होगा। उत्पाद विभाग की टीम ने रविवार की रात गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए राजधानी से शराब की सबसे बड़ी खेप बरामद की है। बाईपास थाने से चंद मीटर की दूरी पर निजी गोदाम से करीब दो करोड़ रुपये की अवैध विदेशी शराब पकड़ी गई है।

थानाध्यक्ष निलंबित, डीएसपी से स्पष्टीकरण

राजधानी के बाइपास थाने से महज 500 मीटर दूर गोदाम से करीब दो करोड़ रुपये की विदेशी शराब मिलने के मामले में बाइपास थानाध्यक्ष को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। थानाध्यक्ष मुकेश कुमार पासवान के साथ स्थानीय चौकीदार लल्लू पासवान पर भी कार्रवाई की गई है। आइजी मुख्यालय ने इससे जुड़ा आदेश जारी कर दिया है। दोनों को मद्यनिषेध के क्रियान्वयन एवं आसूचना संकलन में उदासीनता एवं लापरवाही बरतने का दोषी पाया गया है। दोनों पर विभागीय कार्रवाई प्रारंभ करने का निर्देश भी दिया गया है। इसके अलावा पटना सिटी अनुमंडल के डीएसपी अमित शरण से भी स्पष्टीकरण की मांग की गई है।

तीन मिनी ट्रक और तीन ट्रक भी जब्‍त

इस गोदाम से 3.5 से चार हजार पेटी विदेशी शराब मिली है। इसमें 35-40 हजार लीटर शराब होने का अनुमान है। रविवार देर रात तक उत्पाद विभाग की टीम गिनती व आकलन करती रही। उत्पाद विभाग के डिप्टी कमिश्नर कृष्णा पासवान के नेतृत्व में कई पुलिस अवर निरीक्षकों की टीम ने छापेमारी की। उन्होंने बताया कि बाईपास थाने से करीब 500 मीटर दूर महादेव स्थान के पास 90 गुणा 100 फीट के गोदाम में विदेशी शराब रखी थी। उत्पाद विभाग की टीम ने जब छापेमारी की तो ट्रकों से शराब उतारी जा रही थीं। पुलिस ने मौके से दो ड्राइवर समेत छह लोगों को हिरासत में लिया है। मौके से तीन मिनी ट्रक और तीन ट्रक भी जब्त किए गए हैं। सभी शराब की बोतलें हरियाणा की बताई जा रही हैं।

पुलिस की कार्यशैली पर फिर उठे सवाल

राजधानी में शराब की इतनी बड़ी खेप मिलने से पुलिस पर फिर से सवाल उठने लगे हैं। बाईपास थाने से चंद मीटर की दूरी पर गोदाम में शराब से ट्रक लाया जाता रहा और पुलिस को भनक तक नहीं लगी, यह बड़ा संदेह पैदा करता है। उत्पाद विभाग की टीम को शक है कि इसी गोदाम से पटना के अलग-अलग ठिकानों पर छोटी-छोटी गाडिय़ों से शराब पहुंचाई जाती थी। उत्पाद विभाग की टीम फिलहाल गिरफ्तार लोगों से पूछताछ करने के साथ गोदाम मालिक का पता लगा रही है। इस तरह के मामले सामने आने पर कई बार सरकार ने पूरे थाने पर भी कार्रवाई की है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021