पटना, जागरण संवाददाता। Patna Crime: पटना के शातिर बदमाश तरह-तरह से लोगों को शिकार बना रहे हैं। वे लोगों को ठगने और लूटने के लिए पुलिस का वेश धारण करने से भी बाज नहीं आ रहे हैं। कुछ दिन पहले जीएम रोड में एसटीएफ बन दवा कारोबारी से पांच लाख रुपये की ठगी के बाद ताजा मामला पुलिस वर्दी पहन बाइक उड़ा लेने का सामने आया है। कोतवाली थाना क्षेत्र के दारोगा राय पथ पर दस सितंबर को दो शातिर पुलिस की वर्दी पहनकर बाइक सवार के कागजात की जांच करने लगे। फिर चालान काटने के नाम पर शातिर युवक की बाइक लेकर फरार हो गए। पीडि़त परवीन और प्रिंस ने कोतवाली थाने में इसकी लिखित शिकायत की है। मामला संज्ञान में आते ही सोमवार को कोतवाली थानाध्यक्ष सुनील कुमार घटनास्थल पर पहुंचकर सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुट गए।

दो थाने का लगाया चक्कर, वर्दी में था एक शातिर

पीड़‍ित परवीन बाइक चला रहे थे। वह जक्कनपुर थाना क्षेत्र के मीठापुर अपने आवास से दस सितंबर को पुनाईचक के लिए निकले थे। दारोगा राय पथ पर पहुंचते ही वहां पुलिस की वर्दी पहने एक युवक ने बाइक रोकने को कहा। युवक ने बाइक रोकी तो वह उससे लाइसेंस दिखाने को कहा। हेलमेट नहीं पहनने पर चालान भरने को कहने लगा। इसी बीच एक और शातिर पहुंच गया। वह सादे लिबास में था। वर्दी पहना शातिर दूसरे को सर कहकर बुला रहा था। उसने सादे लिबास में पहुंचे शातिर से कहा कि सर इसके पास लाइसेंस नहीं है और हेलमेट भी नहीं पहना है। चालान काटना होगा। यह बोलकर दोनों युवक को बाइक पर बैठाकर भट्टाचार्य रोड पर ले गए। वहां पहुंचने के बाद परवीन के मोबाइल से उसके भाई को फोन कर भट्टाचार्य रोड पर बुलाया।

पैसा लेकर पहुंचा था बड़ा भाई, नहीं मिला कोई

परवीन के फोन करने पर उसका बड़ा भाई पैसा लेकर भट्टाचार्य रोड पर पहुंचा। लेकिन, इसके पूर्व ही शातिर के तीन अन्य साथी बाइक से वहां पहुंच गए। फिर वर्दी पहना शातिर परवीन को उसकी बाइक से उतार दिया। दोनों शातिर वहां पहुंचे अपने तीन अन्य शातिर के साथ बाइक लेकर फरार हो गए।