जागरण संवाददाता, पटना: ब्रिस्बेन टेस्ट मैच जीतकर भारत ने ना सिर्फ 70 साल का रिकॉर्ड तोड़ा है बल्कि ऑस्ट्रेलिया के घमंड को भी तोड़ दिया है। मैच में रिषभ पंत ने जो शानदार पारी खेली, इससे एक बार फिर पटना के युवा खिलाड़ियों को भारत से आगे भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद जगी है। युवाओं की मानें तो रिषभ पंत इतनी शानदार पारी खेलेंगे भरोसा नहीं था। रिषभ ने वीरेंद्र सहवाग की याद दिला दी। 

खराब प्रदर्शन से खिलाड़ियों को ना आंके

पुनाईचक के दीपक कहते हैं कि उम्मीद नहीं थी कि भारत आस्ट्रेलिया से मैच जीतेगा। दीपक का कहना है कि एक दो मैच में खराब प्रदर्शन हो जाने से किसी खिलाड़ियों को नहीं आंकना चाहिए। मैच में गेंदबाजी से मो. सिराज और बल्लेबाजी से शार्दुल ठाकुर ने भी अच्छा प्रदर्शन किया। 500 का भी लक्ष्य रहता तो भारत चेस कर लेता। आगे से रिषभ पंत को ओपनिंग या मिडिल डाउन पर मौका देना चाहिए। 

रिषभ पंत उभरते हुए खिलाड़ी

उत्तरी नेहरू नगर के आयुष कहते हैं कि इंडियन टीम के रिषभ पंत उभरते हुए खिलाड़ी हैं। रिषभ पन्त युवाओं के प्रेरणा स्रोत बन गए हैं। आने वाले समय में ओपनर बैट्समैन के तौर पर रिषभ को मौका मिलना चाहिए, बस रिषभ को अपना प्रदर्शन बरकरार रखना चाहिए। 

ऑस्ट्रेलिया के तोड़ा घमंड

बेउर के अनुपम कहते हैं कि भारतीय टीम ने न सिर्फ 70 साल रिकॉर्ड तोड़ा है बल्कि ऑस्ट्रेलिया का घमंड भी तोड़ दिया है। रिषभ पंत युवा खिलाड़ी हैं आगे भी इन्हें पहले या दूसरे नंबर पर मौका मिलना चाहिए। रिषभ ने आज टेस्ट में वन डे का मजा दे दिया। 

भावुक करने वाला प्रदर्शन

गर्दनीबाग के ललित कुमार मिश्रा कहते हैं कि रिषभ पंत का प्रदर्शन भावुक करने वाला था। रिषभ का नई बॉल खेलने का तरीका वीरेंद्र सहवाग की याद दिला गया। इनकी कीपिंग में सुधार की जरूरत है। ये युवा खिलाड़ी हैं। इन्हें ओपनिंग बैट्समैन बनाया जा सकता है। रिषभ पंत जैसे बैट्समैन ड्रेसिंग रूम में बैठने के लिए नहीं बने हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021