जागरण संवाददाता, पटना।   बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) रिजल्ट के लिए आने वाले अभ्यर्थियों के फोन कॉल से परेशान हो गया है। फोन से तंग हो चुके बीपीएससी के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार (Joint Secretary cum Examination controller) ने पत्र जारी कर कहा है कि तकनीकी समस्या ठीक होते ही परिणाम जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने अनावश्यक फोन कॉल नहीं करने का भी आग्रह किया है।

सहायक अभियंता (सिविल) की नियुक्ति का आना है परिणाम

बीपीएससी की ओर से सहायक अभियंता (सिविल) की नियुक्ति के लिए मेंस का परिणाम जारी किया जाना है। राज्य के विभिन्न विभागों में सहायक अभियंता के 1284 पदों पर नियुक्ति की जानी है। इसके लिए मार्च 2018 पीटी की परीक्षा ली गई थी। दिसंबर 2019 में मेंस की परीक्षा आयोजित हुई। पीटी की परीक्षा के प्रश्न पत्र के विकल्प में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कुछ अभ्यर्थियों ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, जहां हाईकोर्ट के सिंगल बेंच ने अभ्यर्थियों के पक्ष में फैसला सुनाया था। बाद में बीपीएससी ने डबल बेंच में अपील की थी, जहां कोर्ट ने आयोग के पक्ष में फैसला सुनाते हुए रिजल्ट जारी करने का निर्देश दिया था।

तकनीकी पेंच में फंसा है परिणाम

सहायक अभियंता के 1284 पद तकनीकी पेंच में फंसे हैं। इसमें दिव्यांगों के लिए भी आरक्षण नियम का पालन करते हुए उनका अलग से परिणाम दिया जाना है। इसके लिए बीपीएससी ने सामान्य प्रशासन विभाग से मार्गदर्शन मांगा है। सामान्य प्रशासन विभाग से मार्गदर्शन मिलते ही परिणाम जारी कर दिया जाएगा।

सात फरवरी को सहायक अभियोजन पदाधिकारी की प्रारंभिक परीक्षा

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) सहायक अभियोजन पदाधिकारी की नियुक्ति के लिए सात फरवरी को परीक्षा आयोजित करेगा। इसके लिए आयोग ने सात जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए हैं। बीपीएससी के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि प्रारंभिक परीक्षा के लिए सात जिलों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। आयोग ने  वेबसाइट पर ई-प्रवेश पत्र जारी कर दिया है। यह प्रवेशपत्र परीक्षा के एक सप्ताह पहले तक वेबसाइट पर उपलब्ध रहेगा। अभ्यर्थी इसे डाउनलोड कर परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप