पटना [जेएनएन]। जाप (लो) सुप्रीमो सांसद पप्पू यादव शुक्रवार को फिर तेवर में थे। उन्होंने नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा। उनसे बिहार में बढ़ रहे क्राइम से लेकर किसानों की प्रॉब्लम तक पर सवाल दागे। उन्होंने सरकार से सवाल पूछा कि बिहार में कब हत्याओं का दौर थमेगा। कब अपराधियों पर लगाम लगेगी। राजभवन मार्च के दौरान जाप कार्यकर्ताओं पर हुए लाठीचार्ज की निंदा करते हुए कहा कि वे दोषी पुलिसकर्मियों को छोड़ने वाले नहीं हैं। उनके खिलाफ हमलोग कोर्ट जाएंगे। 

उन्होंने कहा कि दिनदहाड़े पटना के दवा कारोबारी गुंजन खेमका की वैशाली में हत्या कर दी। अपराधी वारदात को अंजाम देकर आसानी से चलते बने और पुलिस अब तक सुराग तक नहीं ढूंढ सकी है। उन्होंने कहा कि गुंजन खेमका हत्याकांड की जांच सीबीआइ से करायी जाए। उन्होंने कहा कि सूबे में आखिर कब तक गुंजन खेमका जैसे कारो​बारी की हत्या होती रहेगी। 

सांसद पप्पू ने सवाल दागा कि व्यवसायी अखिलेश जायसवाल से रंगदारी मांगने को लेकर सत्ताधारी विधायक पप्पू पांडे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। लेकिन उसकी अब तक गिरफ्तारी नहीं की गई है। सरकार बताए कि आखिर आरोपित विधायक की गिरफ्तारी कब होगी? इसके अलावा उन्होंने जाप के लोगों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर भी सरकार को घेरा। 

उन्होंने कहा कि राजभवन मार्च के दौरान हमने लक्षमण रेखा पार नहीं की थी, फिर भी नीतीश कुमार की पुलिस ने दो दर्जन से अधिक नेताओं पर जानबूझ कर हमला किया और उन्हें घायल कर दिया। जज अधिकार परिषद से जुड़े पंकज पर मनोज पांडे नामक इंस्पेक्टर ने हमला किया। हम चुप नहीं बैठेंगे और इसके खिलाफ कोर्ट जाएंगे। इसके बाद सांसद पप्पू यादव पीएमसीएच पहुंचे और घायल छात्र से मुलाकात की। उन्होंने बताया कि पंकज को काफी चोट लगी है।

गौरतलब है कि बिहार को अकाल प्रभावित क्षेत्र घोषित करने, धान खरीद में हो रहे घोटाले, बढ़ते क्राइम, महिला उत्पीड़न, गुंजन खेमका की निर्मम हत्या समेत अन्य मांगों को लेकर अधिकार पार्टी (लो) की ओर से शुक्रवार को गर्दनीबाग से राजभवन मार्च निकाला गया। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप