जागरण टीम, पटना। नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Ammendment Act) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (National Register Of Citizenship) के खिलाफ बिहार में प्रदर्शन जारी है। बिहार के मोतिहारी, समस्तीपु, दरभंगा, पटना और भागलपुर में जुलूस निकाले गए और विशाल जनसभा का आयोजन किया गया। जुलूस और जनसभा में काफी संख्या में लोग शामिल हुए।

भागलपुर में विशाल जनसभा आयोजित कर CAA-NRC का विरोध

भागलपुर में संविधान बचाओ, देश बचाओ समिति द्वारा एनआरसी-सीएए के खिलाफ सोमवार को शाहजंगी मैदान में विशाल रैली का आयोजन हुआ। इस अवसर पर हजारों की संख्या में जुटे अल्पसंख्यक और अन्य संगठन के लोगों ने एनआरसी-सीएए को वापस लेने की मांग की।

रैली से पहले जिले के विभिन्न गांवों-मोहल्लों से जुलूस निकाला गया, और शाहजंगी मैदान में पहुंच कर यह जनसैलाब रैली में तब्दील हो गया। इस रैली में मुफ़्ती मोहम्मद फार्रुख आलम अशरफी, मुफ़्ती मौलाना खुर्शीद अनवर, दिल्ली से आयी शबा फातिमा, कामरेड दशरथ प्रसाद, भीम आर्मी के मनोज भारती ने कहा कि हमारी देश की एकता को खंडित करने का प्रयास करने वाली मोदी सरकार को जड़ से उखाड़ फेकेंगे। जबतक एनआरसी-सीएए को वापस नहीं लिया जाता है तबतक हमारा संघर्ष जारी रहेगा।

मोतिहारी में भी उमड़ा जनसैलाव, सीएए-एनआरसी के विरोध में लगे नारे

मोतिहारी जिले में नागरिकता संशोधन कानून व एनआरसी के खिलाफ सोमवार को सड़कों पर जनसैलाब उमड़ पड़ा। हाथो में तिरंगा और कानून के विरोध में तख्तियां लिए लोगों में अधिकतर अल्पसंख्य समुदाय के लोग शामिल थे। शहर के राजेंद्र नगर भवन परिसर से निकले विरोध मार्च में तक़रीबन 50 हजार से अधिक लोगों ने शिरकत की।

विशाल जनसैलाब में परिवर्तित रैली नगर थाना चौक, अस्पताल चौक, बलुआ, कचहरी चौक, हवाई अड्डा चौक होते हुए होमगार्ड मैदान पहुंची और सभा में तब्दील हो गई। भीड़ के कारण सड़कें पटी रही। इस दौरान एनडीए सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। सभा को हरसिद्धि विधायक राजेंद्र कुमार राम, कांग्रेस जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र कुमार शुक्ल समेत कई लोगों ने संबोधित किया।

दरभंगा में 50 हजार की संख्या में रैली में शामिल हुए लोगों ने किया प्रदर्शन

दरभंगा में भी हाथो में तिरंगा लेकर NRC और CAA के खिलाफ अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने विरोध मार्च निकाला। इस विरोध मार्च में तक़रीबन 50 हजार लोग शामिल रहे। जब ये भीड़ सड़कों पर निकली तो जनसैलाब में बदल गई। इस रैली को कई संगठनो का भी समर्थन मिला। रैली में शामिल लोगों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और नए कानून को वापस लेने की मांग की। 

अररिया में भी नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध में लोगों ने रैली निकाली जिसमें काफी संख्या में महिलाएं शामिल हुईं और सरकार विरोधी नारे लगाए। 

Posted By: Kajal Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस