पटना। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर फाइनेंस कंपनी को अब तक 20 लाख रुपये की चपत लगा चुका शातिर राजन सिंह कोतवाली पुलिस के हत्थे चढ़ गया। बजाज फाइनेंस कंपनी के अधिकारी अनिकेत की सूचना पर पुलिस ने उसे डाकबंगला चौराहे के पास से गिरफ्तार किया। थानाध्यक्ष राम शंकर सिंह ने बताया कि राजन एक संगठित गिरोह का सदस्य है। गिरोह के सरगना तक पहुंचने की कवायद जारी है।

डाकबंगला चौराहे के समीप एक बड़ी इलेक्ट्रॉनिक्स दुकान में सोमवार को राजन डेढ़ लाख रुपये का टीवी और 50 हजार रुपये का होम थियेटर खरीदने गया था। उसने सेल्समैन से कहा कि वह पूरी रकम एक साथ नहीं दे सकता, इसलिए किसी फाइनेंस कंपनी से उसे लोन दिला दिया जाए। वह अग्रिम राशि दे देगा और लोन की रकम किस्तों में अदा करेगा। इस पर सेल्समैन उसे बजाज फाइनेंस कंपनी के अधिकारी के पास लेकर गया, जिसने उसे पहचान लिया। राजन ने पहले भी कई बार फर्जी दस्तावेजों के आधार पर लोन लेकर कीमती सामान खरीदा था। इसके बाद कंपनी के अधिकारी ने पुलिस को सूचना दी। पूछताछ पर राजन ने बताया कि वह जहानाबाद का रहने वाला है। वह गया निवासी मनीष, सुरेश और चंदन के लिए काम करता है। वे उसे जाली कागजात लाकर देते हैं। वह फाइनेंस पर खरीदारी कर जैसे ही दुकान से बाहर आता है कि तीनों उससे सामान ले लेते हैं। इसके बदले उसे पांच हजार रुपये देते हैं। वे तीनों सामान को सस्ते दाम पर दूसरे दुकानदारों को बेचा करते हैं। राजन ने कबूल किया कि उसने पहले तीन बार फर्जीवाड़ा किया है। जबकि अनिकेत ने अब तक कई दफा कंपनी को 20 लाख रुपये की चपत लगाने की बात कही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस