पटना, जेएनएन। बिहार विधानमंडल के मानसून सत्र में विधान सभा की कार्यवाही शुरू होते ही आज विपक्षी दलों ने शिक्षकों के नियोजन में हो रही देरी पर जमकर हंगामा मचाया। जिसके बाद राज्य के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने जवाब देते हुए कहा कि नवंबर तक नए शिक्षकों की बहाली कर ली जाएगी।

विपक्ष द्वारा राज्य के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी मामले को लेकर उठाए गए सवाल का जवाब देते हुए शिक्षामंत्री ने कहा कि तीन महीने के अंदर राज्य के सभी सरकारी स्कूलों से शिक्षकों की कमी को दूर कर दिया जाएगा, नवंबर तक नए शिक्षकों की बहाली हो जाएगी।

सदन में प्रश्नोत्तर काल में रघुनाथपुर से राजद विधायक हरिशंकर यादव ने अपने विधानसभा क्षेत्र के एक एेसे स्कूल का मामला उठाया जहां छात्र हैं लेकिन वहां एक भी शिक्षक नहीं है। इस सवाल का जवाब देते हुए शिक्षामंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद अब राज्य सरकार ने शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

शिक्षामंत्री के इस जवाब से विपक्षी सदस्यों ने जमकर हंगामा किया जिसके बाद विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी को भी शिक्षामंत्री से कहना पड़ा कि शिक्षकों की नियोजन प्रक्रिया की समय सीमा पर सदन में स्पष्ट तौर पर जवाब दें।

इसपर शिक्षामंत्री ने कहा कि नवंबर तक हर हाल में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इसपर राजद नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि सदन की एक कमिटी बनाकर शिक्षक नियोजन प्रक्रिया की वास्तविक स्थिति की समीक्षा होनी चाहिए।

राजद विधायक ललित यादव के छात्रों को पुस्तक उपल्बध कराने के संबंध में उठाए सवाल का जवाब देते हुए शिक्षामंत्री ने कहा कि राज्य के 70 प्रतिशत छात्रों को पुस्तक उपलब्ध करा दिया गया है, वहीं बाकी बचे छात्रों को भी जल्द ही पुस्तक मिल जाएगा।

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप